Connect with us

BIHAR

बिसलेरी कंपनी के मालिक रमेश चौहान को मजबूरन बेचनी पड़ रही 7000 करोड की अपनी कंपनी, जानें क्या है वजह

Published

on

अब बहुत जल्द ही बिसलेरी कंपनी टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट लिमिटेड के अधीन हो जाएगी। साथ ही देश की सबसे बड़ी पैकेज्ड वॉटर कंपनी का मालिकाना हक टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट लिमिटेड के पास होगा। आपको बता दे की टाटा व बिसलरी के बीच 7000 करोड रुपए में डील हुई है। फिलहाल इस डील को लेकर फाइनल बातचीत चल रही है। बता दें कि बिसलेरी इंटरनेशनल के बिकने के वजह का खुलासा बिसलेरी कंपनी के मालिक रमेश चौहान ने स्वयं किया है। हालांकि इस दौरान वे सिर्फ कंपनी बिकने की खबर ही नहीं, बल्कि इसके बिकने के कारणों का भी खुलासा किया।

रमेश चौहान ने बताया कि उत्तराधिकारी नहीं मिलने की वजह से भारत की सबसे बड़ी बोतलबंद पानी की कंपनी बिसलरी को बेचा जा रहा है। आपको बता दें कि कंपनी के मालिक रमेश चौहान की उम्र 82 साल हो गई हैं और उनका स्वास्थ्य भी ठीक नहीं है। ऐसे में उनकी इकलौती बेटी जयंती भी उनके कारोबार को संभालने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रही है। ऐसी परिस्थिति में उनके पास कंपनी को बेचना ही एकमात्र विकल्प है। सूत्रों के अनुसार रमेश चौहान बिसलेरी कंपनी को टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट लिमिटेड को अनुमानित 6000 से 7000 करोड़ रुपए में बेच रहे हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार इस डील की जानकारी भी साझा कर दी गई है।

हालांकि इन दोनों रमेश चौहान की तबीयत ठीक नहीं है और उनका कहना है कि बिसलेरी के विस्तार हेतु उसे अगले स्तर पर ले जाना भी आवश्यक है। और इसके लिए उनके पास कोई उत्तराधिकारी नहीं है। आगे उन्होंने बताया कि उनकी बेटी जयंती उनके कारोबार में कुछ खास दिलचस्पी नहीं दिखा रही है। टाटा ग्रुप इसे और भी बेहतर बना सकता है। यही कारण है कि वह अपनी कंपनी टाटा ग्रुप को बेच रहे हैं। साथ ही रमेश चौहान ने यह भी कहा कि बिसलेरी को बेचना उनके लिए एक दर्द देने वाला निर्णय है, जिसे उन्होंने काफी सोच समझ कर लिया है। उन्होंने बताया कि इस कंपनी को बेचने से जो पैसे मिलेंगे उसे वे दान दे देंगे।

आपको बताते चलें कि रमेश चौहान ने 27 वर्ष की उम्र में भारतीय मार्केट में बोतलबंद मिनरल वाटर को पेश किया था।फिर धीरे-धीरे यह देश के सभी गांव शहरों से जुड़ चुका है। यही कारण है कि बिसलेरी आज देश की सबसे बड़ी पैकेज्ड वॉटर है। फिलहाल रमेश चौहान की बेटी जयंती बिसलेरी कंपनी में वाइस चेयरमैन है। इसके साथ-साथ उन्हें फोटोग्राफी और ट्रैवलिंग का भी शौक है। जयंती चौधरी ने अपनी स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद लॉस एंजेलिस में फैशन इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन एंड मैन्युफैक्चरिंग में एडमिशन लिया था। इसके बाद उन्होंने फैशन स्टाइलिंग भी सीखा और लंदन के कॉलेज ऑफ़ फैशन से फैशन स्टाइलिंग और फोटोग्राफी भी सीखी है।