Connect with us

SPORTS

शुभमन गिल बचपन से ही था क्रिकेटर बनने का सपना, उनके पिता ने बेटे के सपने को पूरा करने में निभाई महत्वपूर्ण भूमिका।

Published

on

भारतीय क्रिकेट टीम के स्टार बल्लेबाज शुभमन गिल न्यूजीलैंड के खिलाफ दोहरा शतक जमाने के बाद से सुर्खियों में है। आज शुभमन गिल के कहानी के बारे में बताने जा रहे हैं। गिल 8 सितंबर 1999 को पंजाब में जन्मे थे। उनके फैमिली के पास फाजिल्का में जमीन है। गिल के पिता लखविंदर सिंह है। गिल के पिता अपने बल्लेबाजी स्किल को सुधारने में सहयोग करने के लिए किसानों से गेंद डालने के लिए कहते थे।

पिता को अपने बेटे के क्रिकेट की ओर रुझान पर काफी गर्व था, और उन्होंने अनुभव किया कि गिल एक महान कोच बनेगा। इसलिए उन्होंने अपने सपने को पूरा करने के लिए मेहनत करना शुरू कर दिया। गिल के पापा उन्हें क्रिकेट के ग्राउंड में घुमाने के लिए मोहाली ले आए। उन्हें वहां एक घर मिला जिसके ठीक सामने पीसीए नाम का क्रिकेट ग्राउंड था।

गिल की बड़ी कोशिश और जुनून के साथ क्रिकेट का बारीकी से अध्ययन किया और कुछ ही सालों में गिल ने जो सुधार किए थे वे साफ हो गए। उन्होंने पंजाब की ओर से खेलते हुए 2016-17 में फर्स्ट क्लास क्रिकेट में डेब्यू किया फरवरी 2017 में विजय हजारे ट्रॉफी में अपना प्रोफेशनल क्रिकेट डेब्यू किया। शुभमन ने पहला रणजी ट्रॉफी मैच नवंबर 2017 में खेला था।

शुभमन गिल भारत के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं और पिछले साल एक अंतरराष्ट्रीय मैच में उनका शानदार प्रदर्शन था। उन्होंने इंग्लैंड के विरुद्ध एक खेल में 147 रन बनाए ऐवं इसके लिए उन्हें प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट का अवार्ड मिला। टीम इंडिया के युवा खिलाड़ियों में से एक गिल है क्योंकि वह बॉलीवुड अभिनेत्री सारा अली खान को इन दिनों डेट कर रहे हैं।