Connect with us

BIHAR

बिहार मेंअगले माह मखदुमपुर, मसौढ़ी व बेला बाईपास का पूरा होगा निर्माण, जाने गया-डोभी फोरलेन का पूरा होगा निर्माण।

Published

on

लंबे समय से निर्माणाधीन पटना-गया-डोभी चारलेन सड़क का निर्माण अब इस साल पूरा नहीं हो सकेगा ‌ इस संदर्भ में प्राप्त जानकारी के मुताबिक नया टारगेट मार्च 2023 है, पर हालात यह है कि अगले साल के जून के पहले इस परियोजना का काम शायद ही पूरा हो सके। यह परियोजना तीन पैकेज में वितरित कर किया जा रहा है। पहले पैकेज का निर्माण इस साल 13 दिसंबर को, दूसरे पैकेज का निर्माण 8 नवंबर को जबकि तीसरे और अंतिम पैकेज का निर्माण 23 नवंबर को पूर्ण होना था।

फिलहाल तीनों पैकेज के अंतर्गत चल रहे काम की वास्तविकता यह है कि पहले पैकेज के 42 फ़ीसदी, दूसरे पैकेज के 49 तथा तीसरे पैकेज के 57 फ़ीसदी काम ही पूरे हो सके हैं। इस हिसाब से देखा जाए तो वित्तीय प्रगति यह है कि पहले पैकेज के 34.90 प्रतिशत, दूसरे पैकेज के 45 और तीसरे पैकेज में 48 प्रतिशत राशि खर्च हो सकी है। बता दें कि तीसरे पैकेज में 32.665 किमी, दूसरे पैकेज में 21.50 किमी और पहले पैकेज में 13.50 किमी सड़क की फोरलेनिंग हो सकी है। प्रथम पैकेज की करार राशि 649.90 करोड़ रुपए, दूसरे की 496.48 करोड़ जबकि तीसरे पैकेज की करार राशि 464.09 करोड़ है।

काम की देखरेख कर रहे अधिकारियों ने बताया कि इस सड़क से जुड़े तीन बाईपास मसौढ़ी, बेलागंज और मखदुमपुर का निर्माण अगले माह पूरा होने की संभावना है। इस परियोजना के तहत तीन रेल ओवरब्रिज का निर्माण होना है। पैकेज वन के तहत आरओबी का निर्माण जारी है। वहीं पैकेज-टू और तीसरे के तहत जिस आरओबी का निर्माण होना है उसके डिजायन को पूर्व मध्य रेलवे को स्वीकृति हेतु भेजा गया है।