Connect with us

BIHAR

बिहार के गोपालगंज को 500 करोड़ के लागत का मेडिकल कॉलेज, बदलेगी जिले की तस्वीर।

Published

on

बिहार के उप मुख्यमंत्री बनने के बाद तेजस्वी यादव पहली बार गृह जिला गोपालगंज में शनिवार को पहुंचे। उप उपमुख्यमंत्री ने पहुंचते ही ऐतिहासिक थावे मंदिर में जाकर माता का दर्शन और पूजन कर आशीर्वाद लिया। उन्होंने अपने गृह जिला को 600 करोड़ रुपये का तोहफा दिया। इसमें से 500 करोड़ खर्च कर थावे प्रखंड में मेडिकल कालेज स्थापना की उन्होंने ऐलान किया। सदर अस्पताल, गोपालगंज में 33.50 करोड़ रुपए खर्च कर माडल अस्पताल, गोपालगंज खोलने का ऐलान करते हुए इसकी आधारशिला रखीं।

उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने जानकारी दी कि 57 करोड़ रुपये खर्च कर थावे मंदिर और परिसर का जीर्णोद्धार होगा। इसके तहत मंदिर का सौंदर्यीकरण किया जाएगा। इसके अलावा पार्किंग की व्यवस्था और दुकानें बनाई जाएंगीं। थावे मंदिर के नजदीक स्थित दोनों तालाब का सौंदर्यीकरण किया जाएगा। 22 करोड़ खर्च कर थावे मंदिर पहुंचने वाली रोड का निर्माण पथ निर्माण विभाग के द्वारा किया जाएगा।

इस दौरान ग्रामीण सड़क विभाग के अंतर्गत सड़कों को पथ निर्माण विभाग अपने अधीन करेगा। ईको फ्रेंडली पार्क का निर्माण किया जाएगा। इसमें बच्चों के खेलने के लिए व्यवस्था होगी। शादी और मेले के लिए भवन का निर्माण होगा। यात्री निवास और आधुनिक शौचालय बनाया जाएगा।

सदर अस्पताल, गोपालगंज में 33 करोड़ 50 लाख 83 हजार खर्च माडल अस्पताल, गोपालगंज खोला जाएगा। इसके लिए टेंडर प्रक्रिया पूरी हो गई है। माडल अस्पताल बनाने का जिम्मा रामा एंड सन्स प्रा. लि. पटना को दिया गया है। माडल अस्पताल दो वर्ष में बन जाएगा। यहां 100 बेड की सुविधा होगी। वहीं, आइसीयू के 10 बेड होंगे।