Connect with us

BIHAR

श्रावणी मेला में कावरियों के सुविधा को देखते हुए सुल्तानगंज से देवघर तक बनेगा कांवरिया कॉरिडोर

Published

on

इस माह से शुरू हो रहे श्रावणी मेले से पूर्व कांवरियों के लिए गुड न्यूज़ आई है। राज्य सरकार के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने बताया कि जल्द ही 84 किलोमीटर लंबाई में कांवरिया कॉरिडोर का निर्माण होगा। इसके लिए केंद्र सरकार को विभाग ने प्रस्ताव सौंपा है। जल्द ही इसे स्वीकृति मिलने की संभावना है। कांवरिया कॉरिडोर सुल्तानगंज से देवघर तक बनेगा। गुरुवार को पथ निर्माण मंत्री ने भागलपुर जिले में कच्चे कांवरिया पथ के अवलोकन के दौरान उक्त बात कही।

मंत्री ने बताया कि मेला शुरू होने से पहले ही कच्चे कांवरिया पथ में गंगा नदी का बालू बिछ रहा है। नियमित रूप से इस पर पानी का छिड़काव होते रहेगा। जिससे पैदल चलने में कांवरियों को किसी तरह की दिक्कत नहीं हो। नौ जोन बनाए गए हैं जो पथ की निगरानी करेंगे। कनीय इंजीनियरों की प्रतिनियुक्ति कर दी गई है।

उन्होंने बताया कि 15 दिनों के अंदर सुल्तानगंज-अगुवानीघाट पुल गिरने की रिपोर्ट सार्वजनिक कर दिया जाएगा। तीनों आईआईटी की टीम के एक्सपर्ट रिपोर्ट का अध्ययन कर रहे हैं। दोषी पाया जाता है तो निर्माण कंपनी एसपी सिंगला को ब्लैक लिस्टेड कर दिया जाएगा। मंत्री ने भागलपुर के जिलाधिकारी सूब्रत कुमार सेन और अन्य अधिकारियों के साथ बैठक की और तैयारी की समीक्षा की।

पथ निर्माण मंत्री ने गुरुवार को मुंगेर में श्रीकृष्ण सेतु के पहुंच पथ पर हो रहे बोल्डर पीचिंग काम का मुआयना किया। जब उनसे पुल निर्माण में लापरवाही से संबंधित प्रश्न पूछे गए तो मंत्री ने कहा कि उन्हें अब तक पूरी जानकारी प्राप्त नहीं हुई है। जी भी निर्माण एजेंसी कार्रवाई करेगी, उसका जांच कर कड़ी कार्रवाई होगी। वे कांवरिया पथ का मुआयना करने फिलहाल आए हुए हैं। श्रावणी मेला में उमड़ने वाली भीड़ में बढ़ोत्तरी को देखते हुए भक्तजनों की सुरक्षा, सुविधाओं की बेहतर व्यवस्था उनकी प्राथमिकता है। जिससे यह मार्ग आसान हो सके।