Connect with us

Uncategorized

बिहार को इस साल मिलेगा दो नया मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल, एमबीबीएस की होगी पढ़ाई, क्षमता 500-500 बेड की होगी

Published

on

बिहार को इस साल के अंतिम तक दो नए मेडिकल कॉलेज मिलने जा रहे हैं। बता दें कि यह दोनों मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल समस्तीपुर और सारण जिले में बन रहा है। इन दोनों मेडिकल कॉलेज के निर्माण हो जाने के बाद राज्यभर में टोटल 14 मेडिकल कॉलेज सह अस्पतालों की संख्या हो जाएगी। इन दिनों मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल में 500-500 बेड होंगे।

बिहार सरकार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने इस संदर्भ में मीडिया से मुखातिब होते हुए जानकारी दी कि सारण और समस्तीपुर में निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल साल के आखिर यानी नवंबर-दिसंबर तक तैयार हो जाएगा। स्वास्थ्य महकमे के अतिरिक्त सचिव कौशल किशोर ने जानकारी दी कि दोनों मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 500-500 बेड की कैपेसिटी होगी। दोनों मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल के निर्माण का लगभग 60 प्रतिशत काम पूरा हो गया है। दोनों जगह एमबीबीएस की कुल 250-250 सीटों पर मेडिकल विद्यार्थियों का नामांकन होगा।

कौशल किशोर ने जानकारी दी कि अगले साल तक इन दोनों मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस स्टूडेंट्स के लिए एकेडमिक सेशन शुरू होने की उम्मीद है। पटना के बिहटा में ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज सहा अस्पताल में 100 सीटों के साथ ही बिहार में सरकारी मेडिकल कॉलेजों में मौजूदा समय में कुल 1290 एमबीबीएस की सीटें हैं। जिसे पब्लिक सेक्टर के उपकरण द्वारा बनाया गया है। मुजफ्फरपुर के एक अन्य प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में 150 सीटों को छोड़ दें, तो प्रदेश के सात प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में कुल 900 सीटें हैं। उन्होंने बताया कि सरकार ने मुंगेर और मोतिहारी में मेडिकल कॉलेज अस्पताल निर्माण की योजना बनाई है।