Connect with us

Uncategorized

बिहार से बंगाल के लिए चलेगी नई बसें, इन 17 रूटों पर परिवहन विभाग करेगा परिचालन, गृह जिला से लोगों को मिलेगा बस

Published

on

बिहार और पश्चिम बंगाल में बस से यात्रा करने वाले लोगों के लिए अच्छी खबर है। जल्द ही बिहार के अलग-अलग जिलों से पश्चिम बंगाल के लिए 17 मार्गो पर बसें चलाई जाएंगी। यह सुविधा शुरू हो जाने के बाद अपने ही जिले से यात्रियों को पश्चिम बंगाल जाने के लिए बस मिलेगा। इन रूटों पर परमिट की मंजूरी के लिए 8 जुलाई को राज्य परिवहन प्राधिकार की बैठक बिहार राज्य पथ परिवहन निगम के दफ्तर में होनी है।

बता दें कि पिछले दिनों परिवहन विभाग ने बिहार से वेस्ट बंगाल जाने वाले इन मार्गों के लिए बस मालिकों से परमिट हेतु आवेदन निकाला था। जिसके बाद बस मालिकों ने परिवहन विभाग को आवेदन सौंपा। प्राप्त जानकारी के मुताबिक विभागीय प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद 17 निर्धारित रूटों पर बस चलाने की अनुमति बस मालिकों को मिल जाएगी। विदित हो कि इन रूटों पर पहले से भी बसें चलाई जा रही है, लेकिन उनकी संख्या बेहद कम है।

विभागीय जानकारी के मुताबिक वजीरगंज से कोलकाता के बीच हजारीबाग, दुर्गापुर, आसनसोल ,और वर्धमान के रास्ते बस चलाया जाएगा। मोतिहारी से दरभंगा और प्रतापगंज के रास्ते सिलीगुड़ी तक, बांका से पूर्णिया एवं दालकोला होते हुए सिलीगुड़ी तक, मरहर से धनबाद के रास्ते कोलकाता तक बस चलेगी। इसके साथ ही खेसर से देवघर, कटोरिया व वर्धमान के रास्ते कोलकाता तक बस चलेगी।

राजधानी पटना से बख्तियारपुर और पूर्णिया होते हुए सिलीगुड़ी तक, सहरसा से बदरपुर और पूर्णिया होते हुए सिलीगुड़ी तक, भागलपुर से दुमका रुट होते हुए सिउरी तक, मोतिहारी से मुजफ्फरपुर और पूर्णिया होते हुए सिलीगुड़ी, राजगीर से बिहारशरीफ रूट हुए होते हुए सिलीगुड़ी, पूर्णिया से दालकोला होते हुए रायगंज तक बसों का संचालन होगा। डेहरी ऑन सोन से जसपुर तक औरंगाबाद, कुरू, डालटेनगंज, गुमला व लोहरदगा होते हुए, सासाराम से डेहरी होते हुए कोरबा तक बस चलेगी।