Connect with us

BIHAR

राजधानी पटना का होगा तेजी से विस्तार, इन इलाकों में बसेगी बड़ी आबादी, जानें किया है मेगा प्लान

Published

on

अब राजधानी पटना का विस्तार गंगा नदी के किनारे होगा। शेरपुर से कच्ची दरगाह तक 36 किलोमीटर एरिया में शहर का विस्तार होगा। बता दें कि शेरपुर से कच्ची दरगाह तक 4 नए पुलों का निर्माण चल रहा है, यह 22 लेन है। इन पुलों के निर्माण से उत्तर बिहार एवं दक्षिण बिहार की दूरी कम होगी और पटना शहर का तेजी से विस्तार होना तय है। फिलहाल 25 किलोमीटर के रेंज में मारूफगंज से दानापुर तक राजधानी का फैलाव है। दानापुर से शेरपुर के बीच 8 किलोमीटर का इलाका ग्रामीण क्षेत्र है। यहां शहरी सुविधाओं का अभाव है। ऐसे ही मारुफगंज से कच्ची दरगाह के मुहाने तक घनी आबादी 3 किलोमीटर की दूरी में बसी हुई है, लेकिन शहरी सुविधाओं की कमी है।

दरअसल, चारों पुल के निर्माण पूरा होने में 10 वर्ष लगेंगे। उस समय तक शेरपुर से दानापुर 8 किलोमीटर की रेंज में और मारुफगंज से कच्ची दरगाह तक 3 किलोमीटर के एरिया में बड़ी संख्या में लोग बस जाएंगे। इस तरह राजधानी का विस्तार होना फिक्स है।

शेरपुर से कच्ची दरगाह की दूरी 36 किलोमीटर है। इस बीच गंगा नदी पर 22 लेन वाले विभिन्न चार पुलों का निर्माण चल रहा है। इन परियोजनाओं पर टोटल 15982 करोड़ रुपए की लागत आ रही है। बीते दो वर्ष से निर्माण कार्य चल रहा है। विभिन्न चरणों में कई निर्माण एजेंसी पुलों के निर्माण में जुटी हुई है।

पटना जिला के शेरपुर से सारण के दिघवारा तक सिक्स लेन पुल का निर्माण चल रहा है। लगभग 7 हजार करोड़ की लागत से 15 किलोमीटर लंबाई में सिक्स लेन पुल का निर्माण चल रहा है। पुल बनाने का काम पटना रिंग रोड के तहत हो रहा है। इसी हिसाब से शेरपुर से दिघवारा से 11.1 पूरब दिशा में दीघा-सोनपुर सेतु का निर्माण किया जाना है। टोटल 2200 करोड़ रुपए की लागत 6.97 किमी लंबे पुल निर्माण पर आएगी। इसके साथ ही पटना-बेतिया राष्ट्रीय राजमार्ग के तहत निर्माण किए जाने वाले इस पुल का डीपीआर बनाया जा रहा है।