Connect with us

NATIONAL

बिजली उत्पादन के क्षेत्र में NTPC का जलवा, इस तिमाही किया 17671 मिलियन यूनिट बिजली का उत्पादन

Published

on

बिजली कंपनी एनटीपीसी विद्युत उत्पादन के क्षेत्र में लगातार कामयाबी की पटकथा लिख रही है। अब एनटीपीसी ने एक और रिकॉर्ड बना लिया है। संयुक्त उद्यम एवं उससे जुड़े हुए कंपनियों ने एनटीपीसी पूर्वी सेक्टर-१ यूनिटों ने वित्तीय वर्ष 2022-23 के पहले तिमाही में टोटल 17671 मिलियन यूनिट विद्युत उत्पादित किया, जो गत वर्ष के अपेक्षा 30.48 प्रतिशत से अधिक है। बता दें कि पूर्वी क्षेत्र मुख्यालय ने शुक्रवार को बयान जारी कर इस बाबत जानकारी दी।

बता दें कि देश में बिजली की सबसे ज्यादा डिमांड 9 जून 2020 को 2,10,792 मेगा वाट दर्ज की गई और 4,712 मिलियन यूनिट बिजली खपत हुई। ऐसा माना जाता है कि बिजली की बढ़ रही मांग देश की वित्तीय सुधार और ऊर्जा खपत का मुख्य संकेतक है। बिजली उत्पादकों और रिफाइनरी की इकोनामिक में आम रूप से समग्र मांग से जुड़ी होती है।

प्रतीकात्मक चित्र

एनटीपीसी के क्षेत्रीय कार्यकारी निदेशक शीतल कुमार ने कंपनी की सफलता के बारे में जानकारी दी। और कहा कि विशेष तौर पर वार्ड प्लांटों का उर्जा प्रोडक्शन प्रदर्शन बिजली के क्षेत्र में हमारी विशेषताओं का एक संकेतक है, जो मजबूत संचालन और रखरखाव सिस्टम के साथ ही कंपनी की टीम की ओर से की गई प्रणाली सुधार तंत्र पर लगातार ध्यान केंद्रित रहने के कारण ऐसा संभव हो पाया है।

एनटीपीसी का क्षेत्रीय मुख्यालय देश के सात बड़े शहरों में है, उन्होंने एनटीपीसी पूर्वी विद्युत उत्पादन संयंत्रों के द्वारा बिहार की विद्युत आवश्यकताओं को पूर्ण किए जाने हेतु योगदान के विषय में बताया, बिजली कंपनी के प्रवक्ता अभिषेक चंद्रा ने कहा कि बिहार में एनटीपीसी संयंत्रों से कुल 6030 मेगावाट विद्युत का आवंटन है, जिसमें एनटीसी के पूर्वी क्षेत्र 1 की हिस्सेदारी 5428 मेगावाट की है।

उन्होंने कहा कि एनटीपीसी पूर्वी क्षेत्र-१ के विद्युत प्लांटों से बिहार की दूरी जरूरतों को पूरा करने के साथ ही दूसरे राज्यों को विद्युत आवश्यकताओं को पूरा करने में अग्रणी भूमिका निभाया है। एनटीपीसी पूर्वी क्षेत्र-१ के तहत बिहार के अलावे झारखंड और पश्चिम बंगाल में टोटल 8 प्लांटों में 10510 मेगावाट बिजली उत्पादन की क्षमता है, जबकि 3720 मेगावाट कैपेसिटी का निर्माण जारी है।

बिजली उत्पादन के साथ ही एनटीपीसी में e-mobility एवं बेस्ट टू एनर्जी जैसे विभिन्न फील्ड में उधम स्थापित किए हैं, बिजली वितरण के लिए केंद्र शासित राज्यों में हुई बोली में हिस्सा लिया है। पूरी सक्रियता दिखाते हुए एनटीपीसी उद्योग की स्थापना और खोज के लिए प्रयासरत है। पर्यावरणीय मुद्दे और सुरक्षा के मुद्दों को सबसे ऊपर रखते हुए एनटीपीसी ने विश्वसनीयता एवं दक्षता हासिल करने की लगातार कोशिश की है। ऊर्जा क्षेत्र में वैश्विक चेंजिंग होने के साथ ही एनटीपीसी तेजी से ईएसजी पर फोकस कर रहा है। एकीकृत ऊर्जा कंपनी में बदलाव के लिए कंपनी लगातार प्रयासरत है।