Connect with us

BIHAR

पटना गंगा पाथवे के बाकी का निर्माण कार्य निर्धारित समय से पहले होगा पूरा, जाने कब तक पूरा होगा निर्माण

Published

on

कैपिटल ऑफ बिहार पटना में जेपी गंगा पथ के निर्माण करने का लक्ष्य 2024 के फरवरी तक निर्धारित किया गया है। मगर अब तीव्र गति से निर्माण होगा। अधिकारियों की मानें तो अगले साल के आखिरी यानी 2023 के दिसंबर तक गंगा पथ का निर्माण पूरा हो जाएगा। अभी बारिश के चलते धीमी रफ्तार से काम हो रहा है। अक्टूबर माह के बाद एलिवेटेड सड़क के निर्माण में भी तेजी आ जाएगी।

जेपी गंगा पथ पर 7.5 किमी सड़क का निर्माण हो गया है। इस पर आना जाना भी शुरू हो गया है। अब 13 किलोमीटर सड़क का निर्माण होना है। बारिश के वजह से काम में सुस्ती आ गई है। ‌ लेकिन अक्टूबर माह के बाद काफी तेजी से जेपी गंगा पथ का निर्माण होगा। बिहार रोड डेवलपमेंट कॉरपोरेशन के अधिकारी कहते हैं कि अगले साल यानी 2023 के मार्च महीने तक पटना घाट तक एलिवेटेड सड़क का निर्माण पूरा हो जाएगा। एलिवेटेड सड़क गंगा नदी में बनना है, इसलिए गंगा के जलस्तर में वृद्धि होने के बाद काम धीमी गति से होगा।

प्रतीकात्मक चित्र

फिलहाल जेपी गंगा पथ पर दीघा से पीएमसीएच की तरफ वनवे है। यानी कि एक ही मार्ग से दोनों ओर का आवागमन चल रहा है। लेकिन व्यवस्था 15 जुलाई से बदल जाएगी। पीएमसीएच जाने के लिए अलग और उधर से आने के लिए दूसरा मार्ग खोला जा सकता है। इस पर काम जारी है। उधर, दीघा से दीदारगंज के नजदीक जेपी गंगा पथ 8 जगहों पर जोड़ने की योजना है। फिलहाल अभी यह एनएन सिन्हा संस्थान के नजदीक जुड़ा है।

जेपी गंगा पथ के दीघा रोटरी के नजदीक हाल ही में पाथवे धंस गया। बीएसआरडीसी के अधिकारियों ने इस बारे में कहा कि पाइप में लीकेज के वजह से ऐसा हुआ था। पानी का रिसाव होने के चलते इसके नीचे मिट्टी बह रही थी, जिस वजह से यह हुआ। अब इसका मरम्मत पूरा कर दिया गया है। जिन जगहों पर ऐसे होने की संभावना है, वहां जांच कर लिया गया है। ताकि आगे परेशानी ना हो।