Connect with us

BIHAR

भागलपुर मे यहाँ बन रहा ओवरब्रिज इसलिए ढाई महीने बंद रहेगी ये 2 सड़कें, जानें वैकल्पिक रुट

Published

on

भागलपुर में बाइपास ओवरब्रिज के नजदीक अमरपुर और बौंसी रोड लगभग ढाई महीने तक बंद रहेगा। इसके साथ ही दोनों बाइपास ओवरब्रिज बंद रहेंगे। ऐसी स्थिति में बाईपास सहित दोनों मुख्य सड़कों की गाड़ियां सर्विस रोड से चलेगी। दरअसल, अमरपुर और बौंसी सड़क पर स्थित बाईपास के दोनों और ओवर ब्रिज की चौड़ाई बढ़ाई जानी है। नया ओवरब्रिज का निर्माण पुराने ओवरब्रिज से सटकर होगा। यह मुंगेर-मिर्जाचौकी नए चार लेन सड़क के लिए नया ओवरब्रिज बनेगा।

ठेका एजेंसी को मोंटे कार्लो के जरिए ओवरब्रिज का निर्माण करना है। दोनों स्थलों पर नया ओवरब्रिज का निर्माण शुरू भी हो गया है। शुक्रवार के दिन बाईपास के ओवरब्रिज के नजदीक बौंसी सड़क को ध्वस्त किया जा रहा था। ठेका एजेंसी के कर्मचारी ने जानकारी दी कि अमरपुर रोड के ओवरब्रिज से सटकर नए ओवरब्रिज का निर्माण शुरू हो गया है। फाउंडेशन का काम चल रहा है। लगभग ढाई महीने का वक्त दोनों जगह पर नए ओवरब्रिज का निर्माण पूरा होने में लगेगा।

सांकेतिक चित्र

बता दें कि दोनों ओवरब्रिज का निर्माण होने से अमरपुर और बौंसी सड़क पर आने जाने वाली गाड़ियां सर्विस रोड से होकर गुजरेगी। बाईपास सड़क की चौड़ाई बढ़ जाने से ओवरब्रिज के दक्षिण तरफ सर्विस रोड फोरलेन सड़क में चला जाएगा। फोरलेन पर गाड़ियों को चढ़ने के लिए सर्विस रोड इस्तेमाल करनी होगी। बाइपास के ओवरब्रिज के सर्विस रोड पर वाहनों का लोड बढ़ गया है। वाहनों की आवाजाही बढ़ने से‌ अक्सर जाम की स्थिति उत्पन्न होती है। सुगम ट्रैफिक व्यवस्था के लिए अभी तक कोई पुलिस बलों को मुस्तैद नहीं किया गया है। इस वजह से बौंसी की तरफ से आने वाली गाड़ी गाड़ियां बाईपास पर चढ़ रही है जिस वजह से जाम लग रहा है।

दोगच्छी से जीरोमाइल तक 16.73 किमी लंबी बाईपास सड़क को ध्वस्त कर नए सिरे से पेमेंट क्वालिटी कंक्रीट सड़क बनेगा। यह काम एनएचएआई ने ठेका एजेंसी मोंटे कार्लो को दिया है। फोरलेन में बाईपास सड़क शामिल हो गया है जिस वजह से इसका निर्माण किया जाएगा। फोरलेन स्टैंडर्ड की तर्ज पर इस सड़क का निर्माण होगा। मोंटे कार्लो के कर्मी ने जानकारी दी कि मुंगेर से मिर्चाचौकी तक पीक्यूसी फोरलेन सड़क बनेगा।

एनएच विभाग ने एनएचएआई को बाईपास सड़क अभी नहीं सौंपा है। एनएच विभाग के कार्यपालक इंजीनियर अरविंद कुमार बताते हैं कि एनएचआई और एनएच के बीच बाईपास सड़क के हैंडओवर-टेकओवर के लिए समझौता हो गया है किंतु, कागजी प्रक्रिया अभी पूरी नहीं हुई है। बता दें कि नए फोरलेन के लिए एनएचएआई बाईपास सड़क के 11 किलोमीटर का हिस्सा टेकओवर करेगा। एमएच विभाग कहती है कि हैंड ओवर करने के बाद हम के पास लगभग 5.73 किमी सड़क बचेगा, जिसके रखरखाव में दिक्कत होगी।