Connect with us

BIHAR

भागलपुर का सैंडिस कंपाउंड बनकर तैयार, फ्री में मिलेंगी ये सारी सुविधाएं, किड्स पार्क का चार्ज तय

Published

on

भागलपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने सैंडिस कंपाउंड विकास के अधिकांश काम पूरे कर लिए हैं। सब कुछ सही रहा, तो इसी महीने यानी जुलाई में इसे आप जनों के लिए खोल दिया जाएगा। बनाए हुए सैंडिस कंपाउंड को दो हिस्सों में बांटा गया है। पहले में पार्क है और दूसरा स्पोर्ट्स स्टेडियम। स्मार्ट सिटी लिमिटेड के एमडी और नगर के आयुक्त डॉ योगेश कुमार सागर ने स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर यानी कि मानक संचालन प्रक्रिया बना लिया है औश्र शुल्क निर्धारण भी कर दिया है। एक से 2 दिनों के अंदर एसपी को फाइनल कर दिया जाना है।

बनाए गए एसओपी में सैंडिस में कई चीजों पर शुल्क देना होगा, तो कई सुविधा चार्ज फ्री होगी। सैंडिस कंपाउंड में एंट्री फ्री रहेगा। गाड़ियों के एंट्री पर प्रतिबंध रहेगी। गाड़ियां पार्क करने के लिए शुल्क देने होंगे। खिलाड़ी में और स्कूल में बच्चों को खेल एक्टिविटीज जैसे टेनिस, बैडमिंटन और बास्केटबॉल में 50 फीसद की छूट रहेगी।‌ बैडमिंटन कोर्ट के अंदर बने जिम प्लेयर्स के लिए फ्री होगा। पार्क में घूमने और टहलने वाले लोगों को कोई शुल्क नहीं देना होगा।‌ इसमें कैफेटेरिया और सरफेस पार्किंग का ओपन बिग होगा।

सैंडिस कंपाउंड में मोटरसाइकिल लगाने के लिए 10 रूपए और चार चक्का गाड़ी आने के लिए 20 रूपए देने होंगे।
सैंडिस मैदान में बने टेनिस, बास्केटबॉल, बैडमिंटन, स्वीमिंग और जिम करने पर शुल्क लगेगा। इसमें स्वीमिंग पुल बन जाने पर उसमें तैराकी करनेवाले राज्य और जिला स्तर के खिलाड़ियों को कोई चार्ज नहीं लगेगा। लेकिन दूसरे लोगों को राष्ट्रीय स्तर पर तय किए गए स्विमिंग पुल का चार्ज देना होगा। स्कूली खिलाड़ियों और बच्चे को खेल एक्टिविटीज जैसे बैडमिंटन, बास्केटबॉल, टेनिस में 50 फीसद की छूट रहेगी।

सैंडिस में निर्माणाधीन स्टेशन क्लब में म्यूजिक, इंडोर गेम, डांस सहित कई चीजें होगी। प्रमंडलीय आयुक्त स्टेशन क्लब के चेयरमैन होंगे। इस क्लब में सदस्य बनाये जायेंगे। सदस्यों को भी शुल्क देना होगा। सदस्य बनने के लिए मानक निर्धारित होगा।

इस खेल फिल्ड में खेल परिषद के द्वारा खेल आयोजन करने पर किसी तरह का चार्ज नहीं देना होगा। संस्था और आम लोगों के द्वारा किसी भी आयोजन पर 10 हजार रुपए देने होंगे। भागलपुर स्मार्ट सिटी के नगर आयुक्त और एमडी डॉक्टर योगेश कुमार सागर ने बताया कि शुल्क का निर्धारण भी तय कर दिया गया है। एक से दो दिनों के अंदर एसओपी को पुरा कर लिया जाएगा। इसके बाद प्राइवेट एजेंसी को सैंडिस कंपाउंड के संचालन का जिम्मा होगा।