Connect with us

BIHAR

बिहार के सरकारी स्कूलों में होगी प्रोफेशनल कोर्स की पढ़ाई, रिटेल मैनेजमेंट व ब्यूटीशियन आदि कोर्स से मिलेंगे रोजगार

Published

on

बिहार के गवर्मेंट स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चे अब व्यवसायिक कोर्स की पढ़ाई करेंगे। बिहार के सभी जिलों के तमाम सरकारी विद्यालयों में व्यवसायिक कोर्स की पढ़ाई माध्यमिक स्तर से शुरू होगी। चिन्हित स्कूल में लैब इंस्टॉल किए जा चुके हैं। एकेडमिक सत्र 2022-23 से प्रशिक्षण शुरू होना है। बच्चों को ट्रेड के रूप में टूरिज्म, ब्यूटीशियन, रिटेल मैनेजमेंट, ऑटोमोबाइल और सुरक्षा जैसे कोर्स पढ़ाए जाएंगे। कम से कम दो पाठ्यक्रम की पढ़ाई स्कूल में होनी है। सारण जिला में तो बच्चे दाखिला भी ले रहे हैं।

बता दें कि 25 छात्रों का एडमिशन एक पाठ्यक्रम के लिए होना है। नौवीं और दसवीं वर्ग के बच्चों के लिए ऑप्शनल विषय होगा। 11वीं और 12वीं कक्षा में इसे अनिवार्य किया जाएगा। पं० सुंदरलाल शर्मा केंद्रीय प्रोफेशनल शिक्षण संस्थान, भोपाल में इसका पाठ्यक्रम बनाया है। व्यावसायिक कोर्स की शुरुआत प्रदेश के हाई स्कूलों में नेशनल वोकेशनल एजुकेशन क्वालिटी फ्रेमवर्क के तहत है। माध्यमिक शिक्षा विभाग ही प्रशिक्षण के लिए शिक्षकों एवं प्रशिक्षकों को अनुबंध के तहत बहाल करेगा। इसकी सुगबुगाहट शुरू हो गई है।

शिक्षा निदेशक ने इस बाबत सूबे के 33 जिलों के जिला शिक्षा पदाधिकारी को लेटर भेजा है। लेटर में कहा गया है कि शैक्षणिक सत्र 2022 में व्यवसायिक शिक्षा के तहत 9वीं वर्ग में दाखिला शुरू करें। सारण जिले में व्यवसायिक कोर्स शुरू करने के लिए उस स्कूल काजीपुर का चयन हुआ है। फिलहाल बेगूसराय, बक्सर, पटना, भोजपुर और पूर्वी चंपारण जिला को इस योजना में जगह नहीं दी गई है। व्यवसायिक कोर्स शुरू करने का उद्देश्य है कि बच्चों में स्किल और दक्षता का विकास हो और उन्हें रोजी रोजगार उपलब्ध हों।

सारण जिले के डीईओ अजय कुमार सिंह ने बताया कि व्यवसायिक कोर्स शुरू करने के लिए बिहार मुख्यालय से ही प्रशिक्षकों को नियुक्त किया जाएगा। इसकी प्रक्रिया प्रारंभ हो चुकी है। काजीपुर उच्च विद्यालय के प्रधानाचार्य संजय कुमार सिंह बताते हैं कि सुरक्षा और ऑटोमोबाइल पाठ्यक्रम में एडमिशन प्रोसेस शुरू हो गया है।