Connect with us

BIHAR

बिहार के इन 6 शहरों को जीआइएस आधारित मास्टर प्लान से किया जाएगा विकसित, विभाग ने शुरू की कवायद

Published

on

बिहार के छह शहरों में नगर विकास एवं आवास विभाग ने जीआईएस बेस्ड मास्टर प्लान तैयार करने का फैसला लिया है। ये छह शहर खगड़िया, अररिया, लखीसराय, फारबिसगंज, भभुआ और जमुई हैं। इसके लिए एजेंसी का खोज शुरू कर दिया गया है। इन छह शहरों का प्लानिंग एरिया बनाकर नोटिस जारी कर दिया गया है।

इसमें शहरी क्षेत्रों के साथ ही आसपास के ग्रामीण इलाकों को जोड़ा गया है। एजेंसियों से नगर विकास एवं आवास विभाग ने मास्टर प्लान तैयार करने के लिए प्रस्ताव मांगा है। इसके लिए 5 जुलाई को प्रीबिड मीटिंग होनी है। 15 जुलाई तक ऑनलाइन आवेदन और 18 जुलाई तक ऑफलाइन आवेदन जमा किए जाएंगे।

प्रतीकात्मक चित्र

बता दें कि राज्य के 44 शहरों के मास्टर प्लान पर काफी तेजी से काम जारी है। पहले फेज में प्रदेश के 13 शहरों के मास्टर प्लान के रूपरेखा पर काम शुरू हो चुका था। इनमें गया, भागलपुर, आरा, मुंगेर, राजगीर, मुजफ्फरपुर, पूर्णिया, दरभंगा, सहरसा बिहारशरीफ, छपरा और बेगूसराय शामिल हैं। इसके साथ ही हाल ही में किशनगंंज, बक्सर, बेतिया, सीवान, सासाराम, कटिहार, मोतिहारी, बेतिया, औरंगाबाद, हाजीपुर और सीतामढ़ी शहरों में आयोजना प्राधिकार गठित कर मास्टर प्लान तैयार करने की तैयारी शुरू की गई है।

नगर विकास एवं आवास विभाग नगर निवेशकों के 32 स्वीकृत पदों पर नियुक्ति करेगी। यह नियुक्ति प्रतिनियुक्ति के आधार पर होगा। विभाग ने योग्य उम्मीदवारों से 12 जुलाई तक आवेदन मांगा है। आवेदन पत्र सहित तमाम जानकारियां विभाग के वेबसाइट पर अपलोड कर दी गई है। विभाग के विशेष कार्य पदाधिकारी बताते हैं कि मुख्य नगर निवेशक के एक, एसोसिएट नगर निवेशक के चार, वरिय नगर निवेशक के एक और असिस्टेंट टाउन प्लानर यानी सहायक नगर निवेशक के 25 पदों पर नियुक्ति की जानी है।