Connect with us

BIHAR

बिहार में 300 डीलरों की जल्द होगी बहाली, बिहार राज्य खाद्य आयोग ने शुरू की प्रक्रिया, राशन कार्ड में भी होगा बदलाव

Published

on

बिहार राज्य खाद्य आयोग के चेयरमैन विद्यानंद विकल ने सर्किट हाउस में पोषाहार व पोषण की समीक्षा की। समीक्षा के पश्चात अध्यक्ष ने मीडिया से मुखातिब हुए कहा कि 300 डीलरों की बहाली जिले में जल्द ही होगी। इसके लिए तमाम प्रक्रिया जल्द पूरी की जाएगी। अनुकंपा के आधार पर 19 डीलरों की बहाली की गई है। जिले में कुल 1291डीलर हैं। ग्रामीण इलाके में 1900 लाभुकों पर एक डीलर और शहरी इलाकों में 1300 की आबादी पर एक डीलर होने का नियम है। उन्होंने जानकारी दी कि अनाज के वितरण एवं उठाव के मामले में भागलपुर जिला दूसरे पायदान पर होता है।

अध्यक्ष ने कहा कि राशन कार्ड में फर्जीवाड़ा पर पूरी तरह से रोक लगाया जाएगा। अयोग्य राशन कार्ड धारियों का राशन कार्ड रद्द होगा। जो अब इस दुनिया में नहीं है, उनका राशन कार्ड रद्द होगा। जो गवर्नमेंट की नौकरी कर रहे हैं, या टैक्स दे रहे हैं उनका भी राशन कार्ड रद्द होगा। हमें जानकारी दी कि जो लोग फैमिली से अलग होकर राशन कार्ड के लिए एप्लीकेशन किया है, उनका कार्ड बनेगा। उन्होंने कहा कि जर्जर हालात में एसएफसी का गोदाम है। 5000 टन की क्षमता है। अलग से गोदाम का निर्माण करने को कहा गया है। हर गोदाम पर धर्मकांटा लगेगा जिसके बाद आनाज मिलने की शिकायत खत्म हो जाएगी।

अंचल अधिकारी अशोक कुमार मंडल ने स्थानीय ईस्टर्न केप बिहार चेंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज दफ्तर में जगदीशपुर अंचल के शिविर का उद्घाटन किया। उन्होंने जानकारी दी कि कई दिनों से व्यापारियों और हम लोगों के द्वारा अंचल शिविर आयोजन करने को कहा जा रहा था। सिविल के प्रथम दिन तक तकरीबन ढाई सौ लोगों ने इसका लाभ लिया। दो दिवसीय शिविर का आयोजन शुक्रवार तक किया गया। उन्होंने आगे कहा कि ज्यादातर पास मशीनें पुरानी हो गई है। इसे मरम्मत कराने में दो से 10 हजार रुपए डीलरों को खर्च करना पड़ रहा है। मशीन का काम कराने हेतु एजेंसी को ही कहा जाएगा।