Connect with us

BIHAR

बिहार में पहली बार कृषि निवेश प्रोत्साहन नीति के तहत 10 योजनाओं को हरी झंडी, इन जिलों को होगा लाभ

Published

on

किसानों के लिए गुड न्यूज है। बिहार कृषि निवेश प्रोत्साहन नीति के तहत पूंजीगत सब्सिडी प्राप्त करने के लिए सब्जियां, फल और मक्का प्रसंस्करण की चार प्रोजेक्ट को स्वीकृति दी गई है। बता दें कि बिहार कृषि निवेश प्रोत्साहन नीति के प्रोजेक्ट अनुश्रवण कमेटी की बैठक में इस पर मुहर लगी है।

इन प्रोजेक्ट में केले के चिप्स, मक्का आधारित स्नैक्स, आलू का चिप्स और मसालों की प्रोसेसिंग होगी। मंजूर हुई प्रोजेक्ट की टोटल लागत तकरीबन 21.33 करोड़ रुपए है। इसमें राज्य सरकार सब्सिडी के रूप में 1.51 करोड़ रूपए देगी।

प्रतीकात्मक चित्र

बता दें कि बिहार में राज्य कृषि निवेश प्रोत्साहन नीति के अंतर्गत 1 महीने के अंदर 10 प्रोजेक्ट पर मुहर लगी है। सभी योजनाओं की टोटल लागत तकरीबन 35.34 करोड़ रुपए है, और सब्सिडी राशि 2.91 करोड़ रुपए है। इन प्रोजेक्ट के लगने से राजधानी पटना, वैशाली, पूर्वी चंपारण, बेगूसराय और भोजपुर इलाके में तकरीबन 300 लोगों को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे।

कृषि सचिव ने जानकारी दी कि किसी से जुड़े हुए उद्यमियों ने चिन्हित टोटल 52 परियोजना के लिए एप्लीकेशन किया है। इनमें बीज प्रसंकरण की आठ, मक्का प्रोसेसिंग की 25, फल एवं सब्जी आधारित नौ, मखाना आधारित पांच, औषधि सुगंधित पौधा एवं चाय प्रसंस्करण की एक-एक एवं मधु प्रसंस्करण की तीन परियोजना शामिल है‌‌।

अनुश्रवण समिति की बैठक में उद्यान निदेशक नन्द किशोर, बिहार कृषि विश्वविद्यालय, वित्त विभाग, , एपीडा, उद्योग विभाग, सबौर, नाबार्ड के प्रतिनिधि एवं उद्यान निदेशालय के अधिकारी सहित तकनीकी सहायता ग्रुप के सदस्यों ने हिस्सा लिया।