Connect with us

BIHAR

बिहार के इन जिलों में 700 करोड़ की लागत से बनेंगे 15 आरओबी, जाने किन जिलों में कहां होगा इन आरओबी का निर्माण

Published

on

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी इन दिनों बिहार दौरे पर है। बिहार को कई परियोजनाओं की सौगात द रहे हैं। गडकरी ने पिछले दिन ही देश के सबसे बड़े स्टील ब्रिज गांधी सेतु पुल के पूर्वी लेन का लोकार्पण किया है। गडकरी ने कहा है कि लगभग 1200 करोड़ रुपए की राशि खर्च कर बिहार में 17 आरओबी का निर्माण चल रहा है। इसके साथ ही गडकरी ने लगभग 700 करोड़ की लागत से राज्य के आठ जिले में 15 आरओबी निर्माण का ऐलान किया।

प्रतीकात्मक चित्र

बता दें कि दरभंगा जिले चार आरओबी का निर्माण होगा। दरभंगा से मुहम्मदपुर में दो आरओबी, थलवारा से लहेरियासराय और लहेरियासराय-दरभंगा में एक-एक आरओबी का निर्माण होगा। समस्तीपुर जिले के दलसिंहसराय से नसिरगंज, पूर्वी चंपारण जिले के मोतिहारी कोर्ट से बापूधाम, मुजफ्फरपुर जिले में मोतीपुर से महवल स्टेशन और कपरपुरा से कांटी शामिल है। इसके साथ ही पश्चिमी चंपारण जिले के मझौलिया से बेतिया स्टेशन और सुगौली से मझौलिया के बीच आरओबी का निर्माण होगा।

गडकरी ने 1508 करेाड़ खर्च कर बनने वाली नेशनल हाईवे-2 के औरंगाबाद से चोरदाहा/ झारखंड सीमा तक का सिक्स लेन मानक संरचना के अनुसार टोटल 69.53 किमी प्रोजेक्ट की आधारशिला रखी। 185 करोड़ खर्च कर गोपालगंज शहर में राष्ट्रीय राजमार्ग-27 के फ्लाई ओवर एलिवेटेड फोर लेन प्रोजेक्ट के निर्माण कार्य का उद्घाटन किया।

बेगूसराय में 256 करोड़ खर्च कर बनने वाले फोर लेन एलिवेटेड फ्लाईओवर के सड़क प्रोजेक्ट जिसकी टोटल लंबाई 4.23 किमी की नींव रखी। जबकि 1614 करोड़ खर्च कर बने उमगांव से कलुआही, राष्ट्रीय राजमार्ग-227 एल, साहरघाट से रहिका, नेशनल हाईवे-227, रहिका से रामपट्टी (मधुबनी बाईपास), नेशनल हाईवे-527ए और विदेश्वर स्थान से भेजा तक राष्ट्रीय राजमार्ग-527ए टोटल लंबाई 88.65 किमी की नींव रखी।