Connect with us

BIHAR

गाँधी सेतु का पूर्वी लेन हुआ शुरू, अब सिर्फ 15 मिनट में जा सकेंगे पटना से हाजीपुर, दूसरा सबसे लंबा स्टील ब्रिज बना गाँधी सेतु

Published

on

35 वर्षों तक देश का सबसे लंबा पुल होने का गौरव हासिल करने वाला बिहार का महात्मा गांधी सेतु ने पुन: इतिहास रच दिया है। आज से देश का महात्मा गांधी सेतु का दूसरा लेन यानी सबसे लंबा स्टील ब्रिज का उद्घाटन हो गया।

केंद्रीय सड़क एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गांधी सेतु के पूर्वी लेन का शुभारंभ किया। यह पुल पटना से उत्तर बिहार के लिए लाइफ लाइन साबित होगा, अब केवल 15 मिनट में ही राजधानी पटना से वैशाली की दूरी लोग तय कर लेंगे।

देश में 35 वर्षों तक का सबसे लंबा पुल का गौरव हासिल करने वाला महात्मा गांधी सेतु का पूर्वी लेन का 5 वर्ष बाद बनकर तैयार हुआ है‌। आज से पुल पर गाड़ियों का आवाजाही शुरू हो गया है। पुल को सीमेंटेड की जगह स्टील से तैयार किया गया है। अब केवल 15 मिनट में ही लोग पटना से वैशाली और वैशाली से पटना की दूरी तय कर लेंगे। पटना से उत्तर बिहार का संपर्क स्थापित करने वाला महात्मा गांधी सेतु का इतिहास काफी लंबा रहा है।

बता दें कि 5.75 किलोमीटर लंबा पुल अब भी भारत का दूसरा सबसे लंबा स्टील पुल जबकि ओवरऑल पुलों में तीसरे पायदान पर है। यह पुल 100 वर्ष से ज्यादा समय तक टिका रहेगा। देश के शीर्ष-10 में बिहार का चार पुल है। मालूम हो कि महात्मा गांधी सेतु को 13585 करोड़ की राशि खर्च कर 15 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजना के तहत निर्माण किया जा रहा है।