Connect with us

BIHAR

गांधी सेतु के दूसरे लेन पर कल से फर्राटा भरेगी गाड़ियां, नितिन गडकरी उद्घाटन कर राष्ट्र को करेंगे समर्पित

Published

on

बिहार वासियों के लिए खुशखबरी है। पटना से हाजीपुर जाने के सफर में जाम का मुंह नहीं देखना पड़ेगा। 7 जून यानी कल ही गांधी सेतु के दूसरे लेन का उद्घाटन होगा। इसके लिए बिहार के दौरे पर केंद्र सरकार के सड़क एवं हाईवे मंत्री नितिन गडकरी मंगलवार को आएंगे। सोमवार को इस बारे में बिहार के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने जानकारी दी। मंत्री ने बताया कि इस मौके पर लगभग 13,585 करोड़ रुपए की लागत से 15 परियोजनाओं का लोकार्पण किया जाएगा। गांधी सेतु के एक लेन से ही फिलहाल गाड़ियों का आवागमन होता है, ऐसे में वाहनों का लोड अत्याधिक रहता है। दूसरा लेन शुरू हो जाने से लोगों को काफी सुविधा मिलेगी।

गांधी सेतु के दूसरे दिन के शुभारंभ को लेकर पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन तथा मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने सोमवार को महत्वपूर्ण जानकारी दी। मंत्री ने बताया कि मंगलवार को सुबह लगभग 10:30 बजे केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी पटना पहुंचेंगे। पटना में उतरने के बाद सीधे सीएम हाउस निकलेंगे और वहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलेंगे। मंगलवार के दिन बिहार की 13,585 करोड़ से निर्मित पर 15 योजनाओं का शुभारंभ और आधारशिला रखी जाएगी। हाजीपुर में इसको लेकर खास कार्यक्रम का आयोजन होना है। कार्यक्रम में मंत्री नितिन गडकरी के साथ ही सीएम नीतीश कुमार मौजूद रहेंगे।

बता दें कि लगभग 1800 करोड़ की राशि खर्च कर गांधी सेतु का सुपर स्ट्रक्चर तैयार किया गया है। बिहार यात्रा के दौरान नितिन गडकरी ने प्रोजेक्ट की नींव रखेंगे इसके साथ ही कई परियोजनाओं का शुभारंभ करेंगे। जिन परियोजनाओं की आधारशिला रखी जाएगी, उनके लिए 70 से 80 प्रतिशत भूमि अधिकरण पूरा हो चुका है। पथ निर्माण मंत्री ने जानकारी दी कि इसी महीने मीठापुर ब्रिज और जेपी गंगा पथ का उद्घाटन किया जाएगा। हाजीपुर से छपरा फोरलेन सड़क को जल्द ही पूरा करने के लिए केंद्र सरकार से बातचीत का दौर जारी है।

गांधी सेतु का दूसरा लेना शुरू होने के साथ ही लोगों को जाम की भीषण समस्या से मुक्ति मिल जाएगी। फिलहाल एक लेन से गाड़ियों का आवाजाही होता है, जिस कारण गाड़ियों की लंबी कतार खड़ी रहती है। आम जनों के साथ ही मालवाहक गाड़ियों को भी दूरी तय करने में काफी विलंब होता है। मालूम हो कि महीनों से गांधी सेतु को दुरुस्त करने के लिए काम चल रहा है।