Connect with us

BIHAR

बिहार के इन सड़क परियोजनाओं का काम होगा युद्ध स्तर पर, नितिन गडकरी से मिले बिहार सरकार के मंत्री

Published

on

केंद्र सरकार के परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से कल बिहार के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन में मुलाकात की। मुलाकात के दौरान बिहार में केंद्र सरकार के फंड से बनने वाले सड़क योजनाओं के बारे में विस्तार रूप से चर्चा हुआ। वैसे सभी परियोजनाओं के बारे में बात हुआ जिसके लिए जमीन अधिग्रहण का काम पूरा हो चुका है, उसके नेशनल हाईवे अथॉरिटी के द्वारा टेंडर की प्रक्रिया शुरू करने की बात चली। वैसे प्रोजेक्ट जिनमें भूमि अधिग्रहण का काम होना बाकी है उसको शुरू करने पर बात विचार हुआ।

इस दौरान भारतमाला फेज-2 परियोजना के अंतर्गत सुल्तानगंज से देवघर तक बनने वाले कांवरिया पथ के बारे में चर्चा हुई। इसके साथ ही पूर्वांचल एक्सप्रेस वे को भागलपुर जिले का का विस्तार करने की बात कही गई। इसके अलावा बिहार के मुजफ्फरपुर, भागलपुर, गया और दरभंगा शहर को ट्रैफिक जाम से छुटकारा दिलाने के लिए रिंग रोड के निर्माण पर विचार विमर्श हुआ। राज्य के बाकी लंबित विषयों पर भी बात हुई।

नितिन नवीन ने बताया कि पटना के अनिशाबाद से कच्ची दरगाह तक फोरलेन एलिवेटेड रोड बनाए जाने के बारे में बात हुआ। फोरलेन एलिवेटेड कुल 15 किलोमीटर लंबी होगी। राष्ट्रीय राजमार्ग-30 के पहाड़ी जंक्शनपर महात्मा गांधी फोर लेन ब्रिज निर्माण हो जाने के बाद और बन रहे नए फोरलेन ब्रिज के वजह से ट्रैफिक की समस्या काफी ज्यादा होगी। दोनों पुल टोटल 8 लेन का होगा। पहाड़ी जंक्शन के विकास के बारे में चर्चा हुआ था कि ट्रैफिक जाम की समस्या से मुक्ति मिलें।

मंत्री ने बताया कि एसएच-101, एनएच-19 और एनएच-30 से आने वाली ट्रैफिक के मद्देनजर एक multi-layer जंक्शन का निर्माण करना बेहद जरूरी है। राष्ट्रीय राजमार्ग-119डी पर रामनगर से कच्ची दरगाह के एलाइनमेंट बनाने पर बात चला। इसे भारत माला प्रोजेक्ट के तहत रामनगर से कच्ची दरगाह के एरिया का जमीन अधिग्रहण का काम होना है। यह पटना रिंग रोड का हिस्सा होगा और ट्रैफिक के मद्देनजर राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के द्वारा multi-layer रेन पेट का निर्माण करवाने जाने पर चर्चा हुई।