Connect with us

BIHAR

छपरा-हाजीपुर निर्माणाधीन एनएच का काम होगा युद्धस्तर पर, साल के आखिर तक दौड़ने लगेगी गाड़ियां

Published

on

छपरा से हाजीपुर तक बनने वाला नेशनल हाईवे का काम सालों से लटका पड़ा है। अब केंद्रीय सड़क एवं परिवहन हाईवे मंत्री नितिन गडकरी ने इसको संज्ञान में लिया है जिसके बाद फोरलेन पथ का निर्माण जल्द पूरा होने की उम्मीद जग गई है। दिल्ली में नितिन नवीन के साथ हुई बैठक में मंगलवार को यह फैसला लिया गया कि हाजीपुर-छपरा के बीच नेशनल हाईवे के बाकी काम को जोरों शोरों से किया जाएगा। दिल्ली के ट्रांसपोर्ट भवन में या बैठक संपन्न हुई। बचे हुए 14 प्रतिशत कार्य के लिए 300 करोड़ रुपए मिलेंगे।

छपरा के इस लंबित सड़क प्रोजेक्ट को लेकर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की अफसरों के साथ विशेष बातचीत में छपरा के सांसद सह बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव प्रताप रूडी में मौजूद थे। बैठक में हुए फैसले के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि जल्द ही शेष 14 प्रतिशत काम पूरा होगा। बाकी के सड़क निर्माण के लिए नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया के द्वारा तकरीबन 300 करोड़ की राशि पर मुहर लगाएगी। उन्होंने जानकारी दी कि दिसंबर महीने तक इस परियोजना को पूरा करने का टारगेट सरकार का है। छपरा-आरा सड़क पुल और सोनपुर-दीघा सरसों हो जाने के बाद इसकी आवश्यकता और बढ़ गई है। इसके साथ ही शेरपुर से दिघवारा तक बनने वाला गंगा पथ के बन जाने से इस सड़क का महत्व और बढ़ेगा।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की विशेष मीटिंग में विभाग के चेयरमैन अलका उपाध्याय, सचिव गिरधर अरमाने के साथ ही नेशनल हाईवे-19 से संबंधित अधिकारी, एजेंसी के कर्मचारी और सांसद मौजूद थे। बैठक लगभग एक घंटे तक चली इस दौरान नेशनल हाईवे के बाकी काम को पूरा करने में आ रही बाधाओं पर चर्चा हुई। काम में हो रही देरी के लिए नितिन गडकरी ने खेद जताया।

नितिन गडकरी और सांसद राजीव प्रताप रूडी का पूरा ध्यान साल के आखिर तक सड़क परियोजना का काम पूरा करने पर था। इसलिए समस्याओं पर विस्तार रूप से विचार विमर्श हुए और कई फैसले लिए गए। सड़क निर्माण को लेकर सांसद राजीव प्रताप रूडी पिछले कई सालों से कोशिश कर रहे हैं और पीएम को भी संज्ञान में दे चुके हैं। उन्होंने केंद्रीय मंत्री से मिलकर दिघवारा में 3 किमी डबरा नदी पर पुल निर्माण, बेला में रेल फैक्ट्री के समीप रेलवे लाइन का पुल एवं हाजीपुर गंडक नदी पर पुल निर्माण के संबंध में चर्चा करते आ रहे हैं।