Connect with us

BIHAR

मुजफ्फरपुर की शाही लीची का स्वाद चखेंगे राष्ट्रपति और PM मोदी, भेजी गई 2500 किलो लीची

Published

on

दुनिया भर में लाजवाब स्वाद और विशिष्ट पहचान के लिए जाना जाने वाला मुजफ्फरपुर की शाही लीची का स्वाद अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद चखेंगे। बता दें कि 2500 किलो शाही लीची शुक्रवार को दिल्ली भेजी गई। प्रधानमंत्री को लीची भेजने का जिम्मा राधा कृष्णा इंपेक्स कंपनी को मुजफ्फरपुर जिला प्रशासन ने सौंपा था। देश के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री भी मुजफ्फरपुर की सुप्रसिद्ध शाही लीची के फैन हैं।

दरअसल, हर साल मुजफ्फरपुर की शाही लीची सीजन में देश के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को भेजा जाता है। इसके लिए बगीचे से उन्नत प्रजाति वाली लीची तोड़ी जाती है फिर इसे शानदार ढंग से प्रोसेसिंग किया जाता है, तब फलों को छांटा जाता है। सबसे अच्छी क्वालिटी वाले फल को निकालने के बाद ही प्रधानमंत्री के लिए भेजा जाता है।

कंपनी के आलोक कुमार केडिया ने जानकारी देते हुए कहा कि पिछले 8-10 साल से प्रधानमंत्री के लिए लीची भेजा जा रहा है। कोविड में दिक्कत होने के बावजूद भी उन्हें लीची भेजी गई थी। जिला प्रशासन के द्वारा उन्हें इस बार 2500 किलो लीची भेजने का आदेश मिला था। स्पेशल रेफ्रिजरेटर गाड़ी से प्रधानमंत्री के लिए लिखी दिल्ली रवाना हुई है। बता दें कि इस गाड़ी में लीची ज्यों की त्यों ही रहती है।

उन्होंने बताया कि बगीचे से फल तोड़ने के बाद प्रोसेसिंग के माध्यम से अच्छे फलों को एक ओर निकाला जाता है, फिर पैकिंग होती है। काफी सतर्कता और मानक का पालन करते हुए बगीचे का चुनाव किया जाता है। उन्हीं बागानों को चुना जाता है जहां का मेंटेनेंस अच्छा हो। बेहतर ढंग का फल और लीची के पौधों की देखभाल शानदार तरीके से की जाती है, वैसे बगीचों को चयनित किया जाता है। इसके लिए पुणे और दिल्ली से एक्सपर्ट आते हैं जो बगीचे में जाकर फल देखते हैं।