Connect with us

BIHAR

बिहार के इन दो जिलों में बनेगा फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट, बिजली कंपनी ने कर लिया है समझौता

Published

on

बिहार की बिजली कंपनी के द्वारा बिहार में दो जगहों पर फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट लगाए जाने की योजना है। हाल ही में राज्य के दरभंगा में बिहार का पहला फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट का शुभारंभ हुआ है। दुर्गा माटी में 30 और फुलवरिया में 20 मेगावाट कैपेसिटी का इकाई नवादा का फुलवरिया डैम रजौली के पास में है। नवादा में इसकी डिस्टेंस 30 किलोमीटर के लगभग है। कई टापू भी डैम के बीच में है। इस डैम का निर्माण साल 1985 में पूरा हुआ था।

बता दें कि 20 मेगावाट के फ्लोटिंग सोलर पावर इकाई लगाए जाने की तैयारी इस डैम में आगे बढ़ी है। कैमूर जिले में दुर्गावती डैम स्थित है। यह 46.3 मीटर ऊंचा है। इसकी ऊंचाई तकरीबन 1615.4 मीटर है। यहां 30 मेगावाट कैपेसिटी का फ्लोटिंग सोलर पावर इकाई लगाए जाने की योजना है। जहानाबाद जिले के उदेरास्थान बराज में भी नार के पास में फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट का निर्माण किया जाएगा।

बिहार में अगले साल तक 410 मेगा वाट सोलर ऊर्जा की बढ़ोतरी हो जाएगी। हाल ही में भारतीय सौर ऊर्जा निगम के साथ बिजली कंपनी ने 210 मेगावाट बिजली खरीदने के लिए समझौता किया है। यह बिजली अगले साल के अंत तक मिलनी शुरू हो जाएगी जिससे 630 मिलियन टन कार्बनडाइआक्साइड उत्सर्जन में कमी आएगी। इसी प्रकार सतलज जल विद्युत निगम के साथ 200 मेगावाट विद्युत की खरीदारी के लिए विद्युत कंपनी ने समझौता किया है। अगले साल के अंत तक बिजली मिलना प्रारंभ हो जाएगा। इसके तहत बांका में 25 मेगावाट क्षमता और जमुई में 175 की सौर ऊर्जा का प्लांट लगेगा।