Connect with us

BIHAR

भागलपुर में यहां बनेगा 40 किमी लंबा फाेरलेन सड़क, साथ ही इस सड़क पर बनेंगे 15 अंडरपास

Published

on

भागलपुर जिले में एनएच-133 सेक्शन के तहत 40 किलोमीटर लंबी फोरलेन सड़क एकचारी से महगामा के बीच बनेगी। एनएच का निर्माण पूर्व से ही महगामा से हसडीहा के मध्य चल रहा है। इसके बन जाने के बाद भागलपुर से बाबा नगरी देवघर का सफर 2 घंटे में पूरा हो जाएगा। इस तरह से एनएच को बनाया जाएगा कि गाड़ियों की रफ्तार 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रही। इस हाइवे से एकचारी, महगामा के रास्ते हसडीहा रुट होते हुए ग्रीन फील्ड के रास्ते लाेग बाबा वैद्यनाथ का दर्शन 2 घंटे में कर लेंगे।

निर्माण हेतु पहले चरण का काम जारी है। दूसरे चरण में टोटल 1393 करोड़ की राशि खर्च कर एकचारी-महगामा के बीच काम शुरू होगा। कुल 106 कल्वर्ट, 8 छाेटा व्हीकल अंडरपास, 7 हीकल अंडरपास, 17 पुल और दाे जगहाें पर जंक्शन बनेगा। जिन इलाकों में घनी आबादी है वहां गाड़ियों की गति कम ना हो इसके लिए अंडरपास बनाया जाएगा।

प्रतीकात्मक चित्र

निर्माण के लिए डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनकर तैयार हो गया है। भागलपुर के जिलाधिकारी को एनएचआई के साहिबगंज की परियोजना इम्पलीमेंट यूनिट परियोजना के निदेशक ने इस बारे में जानकारी साझा की है। प्राप्त जानकारी के अनुसार केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी 7 जून को भागलपुर भी आ रहे हैं। इसके बाद इस परियोजना में और तेजी लाने की बात कहा जा रहा है।

डीपीआर के अनुसार, नेशनल हाईवे 133 सेक्शन के तहत बनने वाले एकचारी से महागामा फोरलेन मुंगेर-मिर्जाचौकी चार लेन रोड को 26.28 किमी तक एकचारी से महागामा का ग्रीन फील्ड बनेगा। इसके बन जाने के बाद भागलपुर जिले के पीरपैंती से पड़ोसी राज्य झारखंड के देवघर और पश्चिम बंगाल जाने के लिए एक और वैकल्पिक रास्ता लोगों के लिए उपलब्ध हो जाएगा।

मुंगेर मिर्जाचौकी फोरलेन निर्माण होने के बाद इस मार्ग से गाड़ी भागलपुर और आसपास के डिस्ट्रिक्ट से डायरेक्ट एकचारी महगामा फोरलेन के रास्ते हंसडीहा होते हुए पश्चिम बंगाल और झारखंड जा सकेंगे। प्रस्तावित एलाइनमेंट के अनुसार देवघर जाने वाले तीर्थ यात्रियों को बेहतर कनेक्टिविटी मिलेगा।

बता दें कि कुल 209.68 हेक्टेयर भूमि के अधिग्रहण में 923.95 कराेड़ रुपए खर्च होंगे। पुराने स्ट्रक्चर को ध्वस्त करने पर 9.36 कराेड़ खर्च होगा। व्हीकल अंडरपास के निर्माण पर कुल 33.60 करोड़ और भी वीयूपी के रिटर्निंग वाॅल पर 34.65 कराेड़ खर्च होगा। सर्विस रोड बनाने में टोटल 12.40 कराेड़ रुपए की लागत आएगी। एसवीयूपी के निर्माण पर 5.04 कराेड़ की लागत आएगी। जबकि 22.26 कराेड़ से कल्वर्ट निर्माण, पुल निर्माण पर 52.20 कराेड़ रुपए, जंक्शन के निर्माण पर 1.92 कराेड़ खर्च होगा।

बता दें कि 42.66 करो रुपए की राशि खर्च कर बस और ट्रक खड़ा करने के लिए जगह, टोल प्लाजा का निर्माण, रोड ट्रैफिक सिग्नल, सड़क के साइड में जरूरी सुविधाएं, क्रेन, एंबुलेंस आदि की व्यवस्था की जाएगी।