Connect with us

BIHAR

हाईवे टोल से मासिक पास लेकर बचा सकते हैं हजारों रुपए, ये है बनावाने की प्रक्रिया

Published

on

नेशनल हाईवे पर स्थित टोल प्लाजा पर शहर के लोगों को पूरा शुल्क नहीं अदा करना होगा। टोल से 20 किलोमीटर के रेंज में रहने वाले ड्राइवरों को मासिक पास मिल सकता है। जानकारी के अभाव में हजारों गाड़ी चालक टोल शुल्क फास्ट टैग के जरिए दे रहे हैं। फिरोजाबाद जिले की बॉर्डर में नेशनल हाईवे पर गुराऊ और टूंडला में टोल प्लाजा है। यहां से गुजरने वाले गाड़ियों को शुल्क चुकाना पड़ता है।

टोल प्लाजा के अधिकारी बताते हैं कि नियम के अनुसार गाड़ी मालिक टोल के 20 किलोमीटर के दायरे में रह रहा है तो उसे टोल टैक्स नहीं देना होगा। उसके गाड़ी के न्यूनतम शुल्क का मासिक पास बन जाएगा। उन्होंने बताया कि इस नियम में दूसरे जिला और दूसरे राज्य की पाबंदी लागू नहीं होती है।

टोल की दर बढ़ने के बाद मासिक पास प्रति महीना 315 रुपए में मिलेगा। एक तरफ जाने का शुल्क 100 रुपए और रिटर्निंग में आने का शुल्क 200 रूपए देना होता है। यानी कि दो बार आने जाने में पूरे महीने भर का शुल्क एक ही बार में निकल जाता है। शहर से आगरा की ओर आवागमन करने वाले गाड़ियों को मासिक पास की सुविधा बड़ी छूट देगी, बता दें कि मंथली पास वाला फर्स्ट एक मात्र एक ही टोल पर लागू होगा। दूसरे टोल पर पूरा शुल्क देना होगा।

बता दें कि टोल प्लाजा के 20 किलोमीटर के दायरे में फिरोजाबाद का पूरा शहर और आगरा की ओर कुबेरपुर तक का इलाका आता है। मासिक पास के लिए वाहन मालिक के पत्ते के कागजात और गाड़ी की आरसी टोल प्लाजा दफ्तर में जमा करना होगा। वहां से मासिक पास फास्ट टैग में अपलोड किया जाएगा इसके बाद लोग एनएचआई से हर महीने पोर्टल से रिचार्ज करवा सकते हैं।

अगर देखा जाए तो फास्ट टैग का सबसे बड़ा फायदा यह है कि समय की बचत होती है। इसके साथ ही तो लाइन में गाड़ियां लगी रहती है जिससे भी राहत मिलता है। इसके साथ ही फास्ट टैग वाले लोग अपने फ्यूल की बचत करने में सक्षम होते हैं।