Connect with us

BIHAR

बिहार के इन 9 जिले में इस वर्ष शुरू हो जाएगा 275 Km लंबी स्टेट हाईवे का निर्माण, बड़ी आबादी को मिलेगा इसका लाभ

Published

on

बिहार के 9 जिलों में लगभग 2680.33 करोड़ों का की राशि खर्च कर 275 किलोमीटर लंबाई में स्टेट हाईवे का निर्माण इस वर्ष शुरू होगा। इसमें कटिहार, पश्चिमी चंपारण, किशनगंज, पूर्णिया, सहरसा, खगड़िया, औरंगाबाद, बांका और नवादा जिला शामिल है। इससे सभी नौ जिलों में लोगों को आने जाने में बेहतर सुविधा उपलब्ध होगी। बिहार स्टेट हाईवे परियोजना-3 के तहत इन सड़कों का निर्माण किया जाएगा। बिहार राज्य पथ विकास निगम लिमिटेड को सड़क निर्माण का जिम्मा सौंपा गया है।

सहरसा और खगड़िया जिले में करीब 513.73 करोड़ रुपए की राशि खर्च कर लगभग 14.11 किलोमीटर लंबी सड़क मानसी-सहरसा-हरदी-चौघारा एसएच-95 का निर्माण मानसी से फुनगो हॉल्ट तक तक किया गया। जबकि 147.92 करो रुपए की राशि खर्च कर 13.97 किलोमीटर लंबी सड़क फुनगो हॉल्ट से सिमरी बख्तियारपुर तक बनेगा। नवादा जिला में 21.80 किलोमीटर लंबी सड़क मांझवे-गोविंदपुर एसएच-103 मांझवे से फतेहपुर तक बनेगा‌।

नवादा जिला में गोविंदपुर से रोह लगभग 4.32 किमी लंबाई में, फतेहपुर से गोविंदपुर तक करीब 20.19 किमी लंबी सड़क बनेगी। तीनों स्टेट हाईवे के निर्माण में लगभग 211.69 करोड़ रुपए की राशि खर्च होगी। औरंगाबाद जिले में 184.91 करोड़ रूपए खर्च कर 32.47 किलोमीटर लंबी सड़क का निर्माण किया जाएगा। बांका जिले में 4.35 किलोमीटर लंबी सड़क एनएच-85 पर अमरपुर बाईपास के करीब निर्माण किया जाएगा।

मिली जानकारी के मुताबिक चंपारण जिले में लगभग 317.25 करोड रुपए की राशि खर्च कर 35.70 किलोमीटर लंबी सड़क बेतिया से नरकटियागंज तक बनेगा। वहीं 702.59 करोड रुपए की राशि खर्च कर कटिहार जिले में 62.88 किमी लंबाई में कटिहार-बलरामपुर एसएच-98 का निर्माण होगा। किशनगंज टो पूर्णिया जिले में लगभग 602.24 करोड रुपए खर्च कर स्टेट हाईवे-99 लगभग 65.35 किलोमीटर लंबी सड़क का निर्माण होगा।

बीएसआरडीसीएल के सीजीएम संजय कुमार कहते हैं कि इस वर्ष के अंत तक सभी एसएस का निर्माण शुरू हो जाएगा। एसएच-95 का निर्माण पूरा करने में लगभग 4 साल का वक्त लगेगा। ऐसे में उम्मीद है कि 2026 तक का निर्माण पूरा हो जाएगा जबकि अन्य सड़कों का निर्माण वर्ष 2024 तक पूरा होने की उम्मीद है। इन सड़कों के बन जाने से प्रदेश में आवागमन की सुविधा या में इजाफा हो गया और 9 जिले के लोगों को डायरेक्ट रूप से लाभ मिलेगा।