Connect with us

BIHAR

बिहार के इस जिले में जुलाई से शुरू होगा मेगा फूड पार्क! यहां के किसानों की बदलेगी किस्मत

Published

on

खगड़िया जिले के लोगों के लिए अच्छी खबर है। ठीक-ठाक सब कुछ रहता है, तो मक्का किसानों के लिए यह साल वरदान साबित होने वाला है। यहां बन रहे प्रिसटीन मेगा फूड पार्क जुलाई में शुरू हो जाने के बाद खगड़िया व आसपास के जिलों के मक्का खेतीहरों की सूरत ईश्वर से बदल जाएगी। उम्मीद है कि जून तक काम पूरा हो जाएगा इसके बाद विधिवत तरीके से जुलाई में फूड पार्क का लोकार्पण किया जाएगा।

केंद्र सरकार के खाद्य प्रसंस्करण मंत्री पशु कुमार पारस से खगड़िया के सांसद महबूब अली कैसर ने बातचीत की है। सांसद ने जानकारी देते हुए कहा है कि सब कुछ ठीक रहता है तो पार्क जुलाई से शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि इस बाबत उन्होंने राज्य के उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन से भी बात की है। यहां गोदाम, कोल्ड स्टोरेज आदि बन गया है। पोल्ट्री फील्ड निर्माण का काम नटराजा कंपनी ने शुरू भी कर दिया है। यहां मुख्य रूप से मकई की 60 फीसद के आसपास खपत होती है।

बता दें कि पूरे देश में मक्का उत्पादन के मामले में खगड़िया का नाम अव्वल है। जिले के 50000 हेक्टेयर भूमि में मक्के की खेती की जाती है। हर वर्ष लगभग एक लाख 55 हजार मैट्रिक टन मक्का उत्पादित होता है। फूडपार्क के बन जाने के बाद मक्का की खपत भी बढ़ जाएगी। डायरेक्ट किसान यहां मक्का बेच सकेंगे। बिचौलिया से भी मुक्ति मिल जाएगी और वाजिब कीमत मिलेगा।

जिला कृषि अधिकारी शैलेश कुमार ने कहा कि फूड पार्क के चालू हो जाने के बाद मक्का की खेती बढ़ेगी। 2000 हेक्टेयर में सोयाबीन की आवश्यकता पड़ती है इस वजह से सोयाबीन की खेती भी बढ़ेगा। खगड़िया का बाजार भी बढ़ेगा और कहा जा रहा है कि यहां एथेनॉल प्लांट भी लगने वाला है।

आनंद मोहन झा (सीईओ, प्रिस्टीन मेगा फूड पार्क) ने बताया कि युद्ध स्तर पर काम चल रहा है। काम जून में खत्म हो जाएगा। उम्मीद है कि इसका विधिवत रूप से जुलाई में उद्घाटन भी हो जाएगा। अभी केवल नटराजा कंपनी आई है। तीन चार दूसरे कंपनियों से भी बात चल रहा है। दूसरे कंपनियों के आने के बाद डिमांड भी बढ़ेगा जिससे आसपास के क्षेत्र में सोयाबीन की खेती भी बढ़ेगी। मक्का उत्पादन के मामले में यह जिला पहले से ही समृद्ध है।