Connect with us

BIHAR

बिहार का पहला एक्सप्रेस-वे 2024 तक बनकर होगा तैयार जिसकी कुल लंबाई 199 किमी होगी, जाने इस एक्सप्रेसवे का रूट

Published

on

बिहार में एक्सप्रेस वे निर्माण पर सरकार का पूरा ध्यान है। अब खबर मिल रही है कि 6927 करोड़ रुपए की राशि खर्च कर सूबे में 199 किलोमीटर लंबी ग्रीन आमस-दरभंगा फील्ड एक्सप्रेस- वे का निर्माण वर्ष 2024 तक पूरा किया जाएगा। इन दिनों गया जिले में भू अर्जन के बाद रैयतों को मुआवजा भुगतान की राशि में तेजी लाने का आदेश दिया गया है।

मई 2022 तक 70 फीसद मुआवजा भुगतान का टारगेट पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने तय किया है। बता दें कि यह एक्सप्रेसवे गोपालगंज-किशनगंज हाइवे को चतुर्भुज मोहनिया-डोभी हाईवे से जोड़ेगा। इसके अलावा झारखंड बॉर्डर से नेपाल सीमा को जोड़ेगा।

प्रतीकात्मक चित्र

बता दें कि भारत सरकार के द्वारा आमस-दरभंगा एक्सप्रेसवे निर्माण को चार चरणों में स्वीकृत कर राशि मंजूर की है। पहले फेज में आमस-शिवरामपुर खंड पर लगभग 55 किमी लंबाई में निर्माण हेतु 1390 करोड़ आवंटित की गई है। दूसरे फेज में शिवरामपुर-रामनगर खंड की लंबाई लगभग 54.30 किमी होगी। इसके बनाने में करीब 1494.31 करोड़ रुपए खर्च होगी। तीसरे चरण में समस्तीपुर जिले के कल्याणपुर से दरभंगा के बलभद्रपुर तक 45 किलोमीटर लंबी सड़क निर्माण में 1857 करोड़ रुपए खर्च होंगे।

दूसरी ओर, केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बहुप्रतीक्षित कोइलवर पुल का उद्घाटन कर आम लोगों को समर्पित कर दिया। नए कोईलवर पुल क्या उद्घाटन हो जाने के बाद रोजाना आने जाने वाले हजारों यात्रियों को इसका लाभ मिलेगा। 266 करोड़ के लागत से बने 1528 मीटर से पुल के शुरू हो जाने से पटना से यूपी का सफर भी आसान हो जाएगा।