Connect with us

BIHAR

बिहार के इस शहर की हवा साफ करने के लिए मिले 4 करोड़, इस मशीन से NH की होगी साफ-सफाई

Published

on

मुजफ्फरपुर शहर को साफ और स्वच्छ बनाने की दिशा में तैयारी शुरू हो गई है। शहर के करीब नेशनल हाईवे से आए धुल कण और प्रदूषण को कम करने के लिए रोड स्वीपिंग से सफाई की जाएगी। नगर निगम प्रशासन को इसके लिए प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के द्वारा चार करोड़ रुपए राशि का आवंटन किया गया है। निगम प्रशासन के मुताबिक प्रदूषण नियंत्रण पर इस राशि को खर्च किया जाना है। ऐसे में एनएच की साफ-सफाई के लिए एक करोड़ से ज्यादा की रोड स्वीपिंग मशीन खरीदने की कवायद तेज हो गई है। नगर आयुक्त ने जानकारी दी कि चौबीसों घंटे एनएच पर गाड़ियों का लोड बना रहता है।

धूल कण और प्रदूषण की समस्या बनी रहती है। उन्होंने बताया कि क्षेत्र विस्तार को लेकर भी प्रोसेस चल रहा है। इसके मद्देनजर मशीनों की खरीदारी की तैयारी शुरू है। दो कंपनी का प्रस्ताव रोड स्वीपिंग मशीन के लिए देखा गया है। नगर निगम इसके साथ ही एक सुपर सकर मशीन खरीदेगी। नगर निगम के पास तीन सुपर सकर उपलब्ध हो जाएगी। दूसरी बार निगम प्रशासन को प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के द्वारा राशि का आवंटन किया गया। बोर्ड ने इससे पहले पांच करोड़ रुपए उपलब्ध कराई थी। प्रदूषण पर काबू पाने के लिए एक बार फिर से राशि का आवंटन किया गया है।

बताते चलें कि प्रदूषण के चलते शहरवासियों का जीना मुहाल हो गया है। इन दिनों स्मार्ट सिटी परियोजना का काम चारों ओर चल रहा है जिसके वजह से स्थिति और दयनीय होती जा रही है। इससे पार पाने के लिए एयर प्यूरीफायर मशीन मतलब स्मॉग टावर लगाने को लेकर नगर निगम प्रशासन ने तैयारी शुरू कर दी है। नगर आयुक्त ने कहा है कि कुछ कंपनियों से उनकी बात हुई है। स्मॉग टावर जिन शहरों में काम कर रहा है, वहां कितना सफल रहा है इसकी खोजबीन के बाद ही इसे खरीदने की प्रोसेस शुरू होगी। इसे स्मार्ट सिटी परियोजना में जगह दी गई है।