Connect with us

BIHAR

गया के मानपुर बस स्टैंड का नाम अटल बिहारी बस पड़ाव होगा, इस जगह पर वाटर पार्क और मोनो ट्रेन चलाने को मंजूरी।

Published

on

गया शहर नगर निगम के ‌नैली कचरा प्लांट के खाली भूखंड पर मोनो ट्रेन और वाटर पार्क चलाने का फैसला लिया गया। गुरुवार को नगर निगम के दूसरे दिन सभागार में आयोजित सशक्त स्थाई समिति की मीटिंग में फैसला लिया गया। मेयर वीरेंद्र कुमार उर्फ गणेश पासवान बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे और नगर आयुक्त अभिलाषा शर्मा का संचालन कर रहे थे। नगर आयुक्त ने बैठक के दौरान बुडको के कार्यप्रणाली पर जमकर फटकार लगाई।

उन्होंने कहा कि अब ऐसा नहीं चलेगा। यही स्थिति रहता है तो प्रधान सचिव को लेटर के जरिए करवाई थी अल्टीमेटम दी। इन जगहों के नाम बदले जाएंगे। स्टैंडिंग कमिटी की मीटिंग में शहर के चांद चौरा रोड का नाम बदलकर अहिल्याबाई होलकर किया जाएगा। 10 करोड़ 48 लाख रुपए से बने नए बस स्टैंड का नाम अटल बिहारी बस स्टैंड रखने का फैसला लिया गया। शहर के चार सीमा पर स्वागत गेट बनाने के लिए प्रस्ताव को मंजूरी मिली।

बैठक के बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए डिप्टी मेयर मोहन श्रीवास्तव ने जानकारी दी कि 53 वार्ड में सामुदायिक भवन, गली, नली सहित अन्य करीब लगमग सौ योजनाओं बाकी बचे है। इन कामों को जल्द पूरा करने का आदेश दिया गया। इसके साथ ही शहर के सभी चौक चौराहों को सौंदर्यीकरण करने का फैसला लिया गया।

शौच मुक्त को लेकर टैंक कचरा के लिए प्लांट स्थापित करने का फैसला लिया गया है। इसके साथ ही आवास योजना के लाभुकों को लाभ दिलाने के लिए निर्धारित समय में राशि आवंटित करने का फैसला हुआ। उन्होंने कहा कि सिंह राजस्थान सरोवर में जलापूर्ति बंद करने के पश्चात जल्द ही नौका विहार शुभारंभ करने का फैसला लिया गया।

इसके आलवा जामा मस्जिद के आसपास अत्याधुनिक प्रकाश व्यवस्था, विष्णुपद मंदिर, ईसाई धर्म के रामपुर स्थित कब्रिस्तान का सौंदर्यीकरण और भुसुंडा स्थित सलेमपुर कब्रस्तान का सौंदर्यीकरण किया जाएगा। इसके अतिरिक्त मानपुर नवनिर्मित बस स्टैंड, क्यूआर कोड कंट्रोल रूम, गांधी मैदान चिल्ड्रन पार्क, सम्राट भवन, ओपन जिम सहित कई बड़ी-छोटी योजनाओं को शुभारंभ कराने का फैसला लिया गया। इसके अलावा गया शहर को सुंदर व स्वच्छ बनाने पर चर्चा हुआ।