Connect with us

BIHAR

खगड़िया से कुशेश्वरस्थान समेत इन छह रूट पर चलने लगेगी ट्रेनें, लाखों की आबादी को होगा लाभ

Published

on

मौजूदा समय में खगड़िया जंक्शन होकर मेनलाइन कटिहार, समस्तीपुर, सहरसा, मुंगेर और बेगूसराय रूट में ट्रेनों का परिचालन हो रहा है बहुत जल्द एक और रूट खगड़िया-कुशेश्वर स्थान रेल रूट पर ट्रेन परिचालन होने की उम्मीद है। वहीं, महेशखूंट से परबत्ता और सिमरी बख्तियारपुर-बेलदौर के रास्ते मधेपुरा तक ट्रेन परिचालन को लेकर चर्चा गर्म है।

खगड़िया से कुशेश्वर स्थान रेल प्रोजेक्ट में अलौली गढ़ तक पटरियां बिछ गई है। माल ट्रेन इस वर्ष निश्चित रूप से अलौली गढ़ तक चलाई जाएगी। ऐसे में खगड़िया जंक्शन से छह रूट पर ट्रेनों का परिचालन होगा। आने वाले समय में दो और लाइन जुड़ेगी। जिस से खगड़िया स्टेशन पर यात्रियों की संख्या में इजाफा होगा और जंक्शन पर लोड बढ़ेगा। ऐसे में खगड़िया जंक्शन पर केवल तीन प्लेटफार्म होने से यात्रियों को परेशानी हो सकती है। यात्रियों की इतनी संख्या होगी कि संभाला नहीं जा सकेगा।

प्रतीकात्मक चित्र

जानकारी हो कि पहले 5 रुटों से 73 जोड़ी सवारी गाड़ी गुजरती थी।‌ लॉकडाउन के समय कई जोड़ी ट्रेनों का परिचालन बंद हो गया। 100 जोड़ी से अधिक माल ट्रेन इस मार्ग से गुजरती है। हर सप्ताह कम से कम 3 से 4 रैक लगता है। ऐसे में मौजूदा रैक पॉइंट के जगह 6 नंबर और पांच नंबर प्लेटफार्म का निर्माण करना जरूरी हो जाएगा। जो रैक प्वाइंट को कुतुबपुर और 24 नंबर ढाला के मध्य जाने के बाद ही संभव हो सकेगा।

सुभाष चंद्र जोशी बताते हैं कि कई मार्गों पर ट्रेन की संख्या घटी है। जब लॉकडाउन के बाद बंद सभी ट्रेनों का परिचालन शुरू होने लगेगा तो दबाव बढ़ना तय है। खगड़िया- कुशेश्वरस्थान रेल मार्ग शुरू हो जाने के बाद 10 जोड़ी ट्रेन इस मार्ग पर चलने की संभावना है। जिससे स्टेशन पर यात्रियों की संख्या और बढ़ जाएगी। प्लेटफार्म की संख्या बढ़ती है, तो पैसेंजर्स को दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।