Connect with us

BIHAR

बिहार में पटना के बाद इस शहर में बनेगा मल्टीलेवल पार्किंग, ट्रैफिक जाम से मिलेगा छुटकारा

Published

on

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत 16 काम पूरे हो चुके हैं। जबकि 14 कार्यफिलहाल अलग-अलग चरणों में हैं। सोमवार को स्मार्ट सिटी के इन कार्यो की प्रगति के लिए जिलाधिकारी शशांक शुभंकर ने समीक्षा की। तथा कहा कि बिहारशरीफ के बिहार कला भवन के सौंदर्यीकरण एवं जीर्णोद्धार का कार्य तथा शहर में उचित स्थान पर मल्टी लेवल पार्किंग निर्माण की संभावना तलाशी जाए।

उन्होंने कहा कि जल्द ही इसका निर्माण शुरू कराया जाए। डीएम ने बताया कि 103 करोड़ की लागत से बिहारशरीफ स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत अभी तक 16 परियोजनाओं का काम पूर्ण हो चुका है। वहीं 717 करोड की लागत से विभिन्न चरणों में 14 योजनाओं पर काम चल रहा है। जबकि 113 करोड़ रुपये खर्च कर 4 योजनाओं के लिए काम किया जाना है इसका टेंडर भी हो चुका है।

प्रतीकात्मक चित्र

धनेश्वर घाट में आधुनिक लाइब्रेरी बनाने के लिए जल्द से जल्द कार्य शुरू करने को कहा। नाला रोड का निर्माण कार्य और सीवरेज नेटवर्क एवं ट्रीटमेंट सिस्टम के अधीन कराए जा रहे कामों को बरसात से पहले ही व्यवस्थित करने का आदेश दिया। ताकि बरसात के समय कोई दिक्कत न हो। डीएम शशांक शुभंकर ने बैठक में प्रगति की जानकारी ली। मुख्य रुप से बिहारशरीफ बाजार समिति के विकास के दोनों चरणों के कार्य, नालंदा महिला कॉलेज का विकास काम, इंटीग्रेटेड कमांड कंट्रोल सेंटर और नालंदा हेल्थ क्लब के विकास कार्य पर चर्चा हुआ। उन्होंने बजार समिति में विद्युत कार्यपालक अभियंता को स्टील लाइन को स्थानांतरित करने का निर्देश दिया।

आपको बता दूं कि स्मार्ट सिटी परियोजना के अंतर्गत जो काम पूरा हो गए हैं उनमें चार सरकारी भवनों पर वाटर हार्वेस्टिग, गांधी और सुभाष पार्क का जीर्णोद्धार, नालंदा हेल्थ क्लब जीर्णोद्धार का पहला चरण, बाजार समिति की चारदीवारी, रामचंद्रपुर बस स्टैंड में पीसीसी, हर घर को दो डस्टबिन, श्रम कल्याण केंद्र मैदान का जीर्णोद्धार, इंटीग्रेटेड कमांड कंट्रोल सेंटर, बड़ी पहाड़ी में जल संग्रह, टाउन हाल का जीर्णोद्धार, धनेश्वर घाट तालाब का जीर्णोद्धार सोलर लाइट का दूसरा चरण, सरकारी भवनों पर 62 केवीए का सौर ऊर्जा प्लांट एवं नालंदा हेल्थ क्लब जीर्णोद्धार का दूसरा चरण शामिल है।