Connect with us

BIHAR

पटना AIIMS से बेतिया तक फोरलेन सड़क का निर्माण इस वर्ष होगा शुरू, 167 किलोमीटर लंबी सड़क से इन जिलों को मिलेगा लाभ

Published

on

बिहार में सड़कों के जाल बिछाने का सिलसिला लगातार जारी है। इसी कड़ी में पटना एम्स से बेतिया तक लगभग 167 किलोमीटर लंबी नेशनल हाईवे चार लेन सड़क का निर्माण किस वर्ष शुरू हो जाएगा। बता दें कि यह फोरलेन पटना एम्स से शुरू होते हुए सोनपुर (राष्ट्रीय राजमार्ग-19 बाईपास) के रास्ते वैशाली-मानिकपुर-साहेबगंज-अरेराज रुट होते हुए बेतिया (नेशनल हाईवे-727) में जाकर मिलेगी। सड़क निर्माण हेतु ज्यादातर जमीन अधिग्रहण का कार्य पूरा हो चुका है।

इन दिनों अरेराज से बतिया के बीच जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया चालू है। उम्मीद जताई जा रही है कि सड़क का निर्माण वर्ष 2023 तक और इस रूट में आने वाले जेपी सेतु के समानांतर चार लेन सड़क को 2025 तक बना लिया जाएगा। इन दोनों परियोजनाओं से प्रदेश के पटना सहित वैशाली, सारण, मुजफ्फरपुर, पश्चिमी और पूर्वी चंपारण जिले के लोगों को प्रत्यक्ष तौर पर लाभ मिलेगा।

सूत्रों के मुताबिक चार लेन सड़क का निर्माण 5 फेज में किया जाएगा। पहले फेज में पटना एम्स से सोनपुर, दूसरे फेज में सोनपुर से मानिकपुर, तीसरे फेज में यहां से साहिबगंज, चौथे फेज में साहिबगंज से अरेराज जबकि आम अंतिम और पांचवें फेज में अरेराज से बेतिया तक सड़क का निर्माण किया जाएगा। अंतिम चरण में अरेराज से बेतिया लगभग 10 किलोमीटर सड़क पूर्वी चंपारण जिला में और लगभग 21 किलोमीटर लंबी सड़क पश्चिमी चंपारण जिला के अधीन है।

बता दें कि प्रथम से चौथे फेज के लिए सड़क निर्माण हेतु टेंडर के जरिए निर्माण एजेंसी का चयन बहुत जल्द होगा। मालूम हो कि नए राष्ट्रीय राजमार्ग को गत वर्ष केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय द्वारा स्वीकृति प्राप्त हुई थी।