Connect with us

BIHAR

बिहार के इस जिले में बन रहा पशु विज्ञान विश्वविद्यालय, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया शिलान्यास

Published

on

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने शुक्रवार को बिहार पशु विज्ञान विश्वविद्यालय के भवन का शिलान्यास किया। पटना के पशु चिकित्सा कॉलेज के परिसर में शिलान्यास समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में डिप्टी चीफ मिनिस्टर तार किशोर प्रसाद और भवन निर्माण मामले के मंत्री अशोक चौधरी भी मौजूद रहे। बता दें कि 5 वर्ष पूर्व बिहार में यूनिवर्सिटी की स्थापना की गई थी। पटना वेटरनरी कॉलेज की स्थापना 1928 में की गई थी। सीएम नीतीश कुमार ने पशु विज्ञान विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए अपने कोशिशों के साथ ही इसके फायदों के बारे में बताया।

शिलान्यास कार्यक्रम में सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि राज्य के युवाओं में खेती और पशुपालन के क्षेत्र में काफी तेजी से दिलचस्पी बढ़ रहा है। उनकी भावनाओं का आदर करते हुए सरकार द्वारा भी कृषि शिक्षा पर काफी बल दिया जा रहा है। उसी का देखते हुए विश्वविद्यालय के इमारतों का निर्माण कार्य शुरू किया गया है। प्रदेश में 890 करोड़ की राशि खर्च कर पशु विज्ञान विश्वविद्यालय की स्थापना की जाएगी।

सीएम ने कहा कि राज्य में शराब बंदी लागू होने से बेहतरी आई है। सब्जी की खरीदारी लोगों ने बढ़ा दी है। विभिन्न प्रकार की सब्जियां लोगों को मिलने लगी है। सीएम ने कहा कि हर 8 से 10 पंचायतों के बीच एक पशु अस्पताल बनाया जाएगा। इससे आसानी से पशुपालक अपने पशुओं का उपचार करा सकेंगे। सीएम ने कहा कि पशु चिकित्सा को बढ़ावा देने के मकसद से बिहार वेटरनरी कॉलेज के साथ ही दूसरा वेटरनरी कॉलेज किशनगंज में शुरू किया गया है। वहां मत्स्य कॉलेज भी खुला है, जिसके प्रति युवाओं का तेजी से रुझान बढ़ रहा है।

मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि मानव एवं पशुओं के बीच मजबूत संबंध सदियों से रहा है। जब पशु एवं वातावरण स्वस्थ एवं स्वच्छ रहें तभी मानव जीवन स्वस्थ हो सकता है। इस दौरान अशोक चौधरी ने कहा कि अगले 3 सालों में पशु विज्ञान विश्वविद्यालय की स्थापना कर ली जाएगी। इसके लिए खाका बना लिया गया है। सभी विभागों से मंजूरी भी मिल गई है।