Connect with us

BIHAR

जेपी गंगा पथ से जुड़ेगी मंदिरी नाला सड़क, राजधानी पटना के इन हिस्सों में ट्रैफिक लोड होगा कम

Published

on

पटना में मंदिरी नाले को ढककर निर्माण की जा रही सड़क को डायरेक्ट जेपी गंगा पथ जोड़ा जाएगा। इसके लिए बांसघाट के समीप अशोक राजपथ में फ्लाईओवर बनाया जाएगा। गंगा पथ के साइड में सड़क बनेगी और एएन सिन्हा के सामने नीचे की ओर जेपी सेतु गंगा पथ से जुड़ेगा। गुरुवार को मंदिर जाने पर निर्माण होने वाली सड़क का मुआयना करने के दौरान ये बातें राज्य के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने कहीं।

पथ निर्माण मंत्री ने कहा की शीघ्र ही जेपी गंगा पथ से मंदिरी सड़क को संपर्क स्थापित करने का नक्शा तैयार किया जाए। उन्होंने मंदिर लेन के काम पर असंतोष व्यक्त किया। पटना स्मार्ट सिटी के नगर आयुक्त ने मंत्री से कहा कि कार्य बंद करने के लिए 15 मई से नोटिस जारी हुई। मानसून के दिनों में नाले को बंद करके काम करना असंभव है। सितंबर में पुनः शुरू होगा। मंत्री ने निर्माण एजेंसी के अफसरों को आदेश दिया कि कार्य बंद के समय सभी तैयारियां कर लें।

उन्होंने सितंबर से युद्ध स्तर पर काम शुरू करने को कहा। जून 2023 तक निर्माण काम पूरा करें एवं सितंबर में आम नागरिकों को सड़क समर्पित कर दें। मंत्री ने कहा कि मेरी ड्रीम प्रोजेक्ट में किसी तरह की लेटलतीफी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इस दौरान मंत्री ने स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत निर्माण होने वाले विद्युत शवदाह गृह के निर्माण कार्य के बारे में जाना। बता दें कि मंदिर नाले सड़क के बन जाने से चीनाकोठई, मंदिरी समेत दूसरे मोहल्लों की तस्वीर बदल जाएगी। इस मार्ग के बन जाने से गोलघर, फ्रेजर रोड, डाकबंगला और गांधी मैदान के रोडों पर ट्रैफिक लोड कम होगा।

मालूम हो कि मंदिरी नाले सड़क को बनाने में 68 करोड़ की राशि खर्च हो रही है। अब तक नाले के निचले भाग में 75 मीटर ढलाई आकार हो चुका है। नाले के 10 मीटर ऊपरी भाग को पाट दिया गया है और 15 मई तक काम करने की परमिशन मिली है। 1289 मीटर लंबे नाले में वेडिगजोन, ग्रीनजो और लैंडस्केपिग का विकास किया जाएगा। दो‌ लेन में बन रही इस सड़क की एक लेन की चौड़ाई साढ़े 5 मीटर है। दोनों साइड फुटपाथ है।