Connect with us

CAREER

बिहार की छात्राओं पर मेहरबान नीतीश सरकार, कक्षा 6 से लेकर ग्रेजुएशन तक मिलेंगे 1223 करोड़ रुपए।

Published

on

बिहार में छठी वर्ग में पढ़ने वाली से लेकर ग्रेजुएट पास करने वाली छात्राओं को सरकार प्रोत्साहन राशि के तौर पर 1223 करोड़ रुपए देगी। शिक्षा विभाग उक्त राशि के भुगतान के लिए मसौदा तैयार कर लिया है इस पर जल्द ही मंत्रिमंडल से मंजूरी ली जाएगी। फिलहाल लाभार्थियों की पूरी लिस्ट शिक्षा विभाग द्वारा विभाग के पोर्टल पर जारी करने का आदेश सभी जिलों को दिया है।

शिक्षा विभाग के अनुसार इंटर उत्तीर्ण होने वाली अविवाहित छात्राओं के लिए बालिका प्रोत्साहन योजना के तहत 400 करोड़ रूपए प्रस्तावित है। बीएसईबी से 12वीं पास होने वाली छात्राओं को इस योजना के तहत 25-25 हजार रुपए मिलेंगे। ग्रेजुएट होल्डर छात्राओं को मुख्यमंत्री बालिका स्नातक प्रोत्साहन योजना के तहत 250 करोड़ रुपए प्रस्तावित है। राज्य के यूनिवर्सिटियों से ग्रेजुएट पास होने वाले छात्राओं को इस योजना के तहत 50-50 हजार रुपए दिए जाएंगे।

छात्राओं के पोशाक के लिए मुख्यमंत्री शताब्दी बालिका पोशाक योजना के तहत 200 करोड़ रुपए मिलेंगे। इस योजना के तहत 9वीं वर्ग से बारहवीं वर्ग तक के छात्राओं को दो सेट पोशाक हेतु 1500 रुपए दिए जाएंगे। नौंवी वर्ग में पढ़ने वाली छात्राओं को मुख्यमंत्री बालिका साइकिल योजना के तहत साइकिल के लिए 123 करोड़ रुपए प्रस्तावित है। बता दें कि इस योजना के तहत नौंवी वर्ग में पढ़ने वाली छात्राओं को साइकिल खरीदने हेतु तीन हजार रुपए प्रोत्साहन राशि के रूप में दी जाती है।

वहीं मुख्यमंत्री प्रोत्साहन योजना के तहत 300 करोड़ रुपए प्रस्तावित है। बिहार बोर्ड से फर्स्ट डिवीजन से मैट्रिक पास होकर 11वीं वर्ग में नाम लिखाने वाली लड़कियों को 10 हजार रुपए सरकार देगी। मुख्यमंत्री बालिका पोशाक योजना के लिए 100 करोड़ रूपए प्रस्तावित है। छठी से आठवीं वर्ग में पढ़ रही लड़कियों को इस योजना के तहत एक हजार रुपए दिए जाएंगे। इसी तरह सेनेटरी नैपकिन देने के लिए पचास करोड़ रुपए प्रस्तावित है। छठी वर्ग से 12वीं वर्ग तक पढ़ने वाली छात्राओं को इस योजना के तहत सैनेटरी नैपकिन के लिए निर्धारित राशि दी जाएगी।