Connect with us

BIHAR

दरभंगा जिले की इस सड़क को किया जाएगा टू-लेन, दर्जनभर गांवों को मिलेगा लाभ

Published

on

बढ़ती जनसंख्या, अनियंत्रित यातायात व्यवस्था और लगातार गाड़ियों की संख्या में हो रही बढ़ोतरी के बीच बिहार सरकार सकरी-धरौड़ा सड़क को टू लेन में बदलने के प्लान पर काम कर रहा है। आगामी समय में यह सड़क टू लेन में बदल जाएगी। 16 किलोमीटर लंबी सड़क जो सकरी से धड़ौरा तक है, 5.5 मीटर सड़क की चौड़ाई बढ़ाकर 7 मीटर करने के लिए पथ निर्माण विभाग के दरभंगा और बेनीपुर पर मंडल द्वारा विभाग को विस्तार रूप से प्रस्ताव तैयार किया गया है।

बताते चलें कि इसे रोड से आवागमन करने के दौरान यातायात व्यवस्था को देखते हुए सड़क की चौड़ाई बढ़ाने का आदेश मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विभाग के अभियंताओं को दिया था। मुख्यमंत्री के आदेश के संबंध में पथ निर्माण विभाग के अभियंताओं द्वारा सड़क की चौड़ाई बढ़ाने का प्रस्ताव सौंपा गया है। प्रस्ताव को स्वीकृति मिलते ही रोड की चौड़ाई बढ़ाने का कार्य शुरू हो जाएगा।

प्रतीकात्मक चित्र

वीरेंद्र कुमार जो पथ निर्माण विभाग दरभंगा प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता हैं। उन्होंने बताया कि सकरी से धड़ौरा चौक तक 16 किमी लंबी सड़क में दरभंगा प्रमंडल आठ किलोमीटर सड़क बनाएगा। वहीं बेनीपुर प्रमंडल को 8 किलोमीटर से 16 किलोमीटर तक सड़क निर्माण का जिम्मा सौंपा जाएगा। इसके लिए 30 करोड़ का प्रस्ताव दरभंगा प्रमंडल के द्वारा भेजा गया है।

बेनीपुर प्रमंडल के अभियंता उदय कुमार ने बताया कि 35 करोड़ 28 लाख का प्रस्ताव आठ किमी सड़क निर्माण के लिए भेजा गया है। सरकार के द्वारा प्रशासनिक मंजूरी मिलने के पश्चात कार्य शुरू हो जाएगा। सड़क के टू लेन में बदल जाने के बाद कुशेश्वरस्थान, बिरौल और बेनीपुर के क्षेत्रों के लोगों के लिए सफर आसान हो जाएगा। सड़क की चौड़ाई पढ़ने से ट्रैफिक भी नियंत्रित होगी।

इलाके के लोग बताते हैं कि यह सड़क टू लेन में बन जाने के बाद क्षेत्र के लोगों का आना-जाना सुविधाजनक होगा और पर्यटन व धार्मिक नजरिए से इलाके का विकास होगा। कुशेश्वरस्थान के महादेव मंदिर, बेनीपुर के नवादा भगवती स्थान मंदिर तक लोग आसानी से पहुंच जाएंगे। एनएच 47 से होकर जाने वाले लोगों के लिए यह सड़क से आवागमन आसान होगा। क्षेत्र के लगभग डेढ़ दर्जन गांवों के लिए यह सड़क असरदार साबित होगी। कहा जा रहा है कि सड़क पर ट्रैफिक बनने से रोजगार के अवसर खुलेंगे। पर्यटन और धार्मिक के लिहाज से क्षेत्र का विकास होगा।