Connect with us

BIHAR

हावड़ा-जयनगर एक्सप्रेस अब हर दिन चलेगी, भागलपुर-दानापुर इंटरसिटी में एसी चेयरकार लगाने का फैसला

Published

on

भागलपुर से होकर गुजरने वाली साप्ताहिक हावड़ा-जयनगर एक्सप्रेस ट्रेन के परिचालन में रेलवे द्वारा संशोधन किया गया है। आने वाला 3 मई से यह ट्रेन सप्ताह के सातों दिन चलेगा। 3 मई से हावड़ा से और 4 मई से जयनगर से सप्ताह के सातों दिन ट्रेन का परिचालन होगा। बता दें कि अभी इस ट्रेन का संचालन सप्ताह में एक ही दिन अप-डाउन दिशा में होता है। सप्ताह के पहले दिन यानी सोमवार को हावड़ा से जबकि मंगलवार को यह ट्रेन जयनगर से रवाना होती है।

रेलवे बोर्ड से मंजूरी मिलने के बाद पूर्व रेलवे ने गुरुवार को इस ट्रेन के प्रत्येक दिन परिचालन से जुड़ी अधिसूचना जारी करके सभी स्टेशनों को ट्रेन के परिचालन संबंधी बदलाव को लेकर सूचना जारी कर दिया है। इस मार्ग की यह मुख्य ट्रेन है।

प्रतीकात्मक चित्र

रोजाना इस ट्रेन के परिचालन होने से भागलपुर के साथ ही मुंगेर, लक्खीसराय और बांका जिले के यात्रियों को सहूलियत होगी। कोविड से पहले गाड़ी संख्या-13031/13032 सवारी गाड़ी बनकर चल रही थी। सप्ताहिक एक्सप्रेस के तौर पर मार्च और अप्रैल महीने में इस सवारी गाड़ी का परिचालन शुरू हुआ। हालांकि इस ट्रेन का समय पहले की तरह ही रहेगा। यह ट्रेन 11:05 बजे हावड़ा से खुलेगी और भागलपुर रात के 10:35 बजे पहुंचेगी। 10 मिनट ठहरने के बाद यह ट्रेन भागलपुर से आगे के लिए रवाना हो जाएगी। जयनगर से ट्रेन की खुलने की टाइमिंग शाम के 7:45 बजे है। अलग-अलग स्टेशन पर‌ ठहरते हुए यह ट्रेन भागलपुर दूसरे दिन सुबह 7:30 बजे पहुंचेगी। यहां 10 मिनट फहरने के पश्चात हावड़ा के लिए खुलेगी।

रेलवे ने यात्री सुविधा के मद्देनजर भागलपुर-दानापुर इंटरसिटी एक्सप्रेस में एक्स्ट्रा एसी चेयर लगाने का फैसला लिया है। यात्री भीड़ को देखते हुए रेलवे ने गुरुवार को इस से जुड़ी हुई अधिसूचना जारी की। अप और डाउन दोनों दिशाओं में इस ट्रेन में एसी चेयर कार 5 मई से लगेगा। एसी चेयर कार की संख्या बढ़ने के बाद इस ट्रेन में कुल 19 डिब्बे हो जाएंगे। 2023 के 21 मार्च तक अस्थाई रूप से ट्रेन में एक्स्ट्रा एसी चेयर कार लगाया जाएगा। रेलवे के इस फैसले के बाद यात्रियों की सुविधा बढ़ जाएगी। भागलपुर के साथ ही लखीसराय, मुंगेर और बांका जिले के लोगों को काफी फायदा होगा। यह ट्रेन पहले की तरह ही चलेगी‌। इसके टाइम टेबल में कोई फेरबदल नहीं किया गया है।