Connect with us

BIHAR

बिहार के इस जिले के ग्रामीण सड़कों का कायाकल्प, 40 करोड़ की खर्च से 42 सड़कों पर विभाग की मुहर

Published

on

एक तरफ जहां शहरी इलाकों में भी सड़कों की दयनीय स्थिति है वहीं जिले में गांव की सड़कें भी लंबे समय से कायाकल्प का इंतजार कर रही है। जहानाबाद जिले के 42 जर्जर सड़कों के सुदृढ़ करने का फैसला आरईओ ने लिया है। 42 सड़कों के स्थिति सुदृढ़ करने में लगभग 42 करोड़ रुपए खर्च होंगे इसके लिए ग्रामीण कार्य विभाग द्वारा मंजूरी प्रदान कर दिया गया है। बता दें कि जिले में कई सड़कों का जीर्णोद्धार हाल के दिनों में आईईओ ने एक साथ कराया है। नई योजनाओं को मंजूरी मिलने के बाद सड़क निर्माण हेतु टेंडर भी निकाला गया है।

जिले के डीएम हिमांशु कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि निविदा की प्रक्रिया पूरा होने के बाद अगले महीने से सड़क निर्माण शुरू होने की संभावना है। डीएम ने कहा कि कोविड और फिर चुनावी साल होने की वजह से जिले की कई ऐसी ग्रामीण सड़कें है जो गड्ढे में बदल गई हैं। कई रोडों पर तो‌ आना-जाना भी मुश्किल हो गया है।

सड़कों की जर्जर हालात का क्षेत्र मुआयना करने के दौरान डीएम के आदेश पर ग्रामीण कार्य विभाग द्वारा प्रस्ताव ग्रामीण कार्य विभाग को सौंपा गया था। डीएम के पहल से इन सड़कों की मरम्मत के लिए ग्रामीण कार्य विभाग द्वारा मंजूरी दे दी गई है।

सुरही से मुरहारा रोड निर्माण पर ग्रामीण कार्य विभाग ने मुहर लगा दी है। कई सालों से ही से सड़क के निर्माण के लिए कोशिश किया जा रहा था। यहां के लोगों ने तो चुनावी समय में नेताओं के लिए गांव में जाने पर बैन लगा दी थी। जिसके बाद इस सड़क की मरम्मत कराने का कार्यपालक अभियंता ने स्टांप पेपर पर लिखित वादा किया था। जनप्रतिनिधि सुशीला देवी ने इंजीनियर के विरुद्ध थाने में लिखित शिकायत दर्ज की थी। लेकिन योजना को मंजूरी नहीं मिलने का कारण कोविड था। उसी प्राथमिकता के आधार पर अब इन योजनाओं को हरी झंडी दी गई है।

ग्रामीण कार्य विभाग के अभियंता ने जानकारी दी कि टेंडर की प्रक्रिया पूर्ण होने के पश्चात निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा। विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक नई योजना में दो सड़कों के निर्माण पर मंजूरी दी गई है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक 59 लाख 92 हजार खर्च कर एनएच 83 से नेरथुआ देव कुली बिगहा तक सड़क बनेगा। एक करोड़ 81 लाख रुपए की लागत से एनएच 83 सूरज मंदिर से दहबल बिगहा तक 2.5 किमी लंबी सड़क का निर्माण किया जाएगा। इसके साथ ही 42 सड़कों के जीर्णोद्धार को मंजूरी प्रदान की गई है। वहीं लगभग 10 किलोमीटर की लंबाई में 4 सड़कों पर 3 करोड़ 53 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे।