Connect with us

BIHAR

भागलपुरी सिल्क को मिलेगा अंतरराष्ट्रीय पहचान, 4 कराेड़ से भागलपुर में खुलेगा काेकून बैंक

Published

on

बिहार सरकार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने राज्य में चौतरफा उद्योग-धंधे स्थापित करने का बीड़ा उठा लिया है। पटना में सिल्क मार्क एक्सपो के उद्घाटन के बाद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि चार करोड़ की राशि खर्च कर भागलपुर में केंद्रीय रेशम बोर्ड के द्वारा कोकून बैंक खोला जाएगा। इसके साथ ही तसरवेट थाई रीलिंग प्लांट की स्थापना की जाएगी, इससे कोरियन सिल्क का आयात कमेगा। उन्होंने कहा कि बिहार के सिल्क उत्पादों के लिए सिल्क मार्क एक्सपो बेहतरीन मौका है।

सिल्क मार्क एक्सपो के माध्यम से प्रदेश के सिल्क उत्पादकों को बड़ा बाजार तो मिल ही रहा है इसके साथ ही अंतर्राष्ट्रीय बाजार में बिहार के सिल्क की ब्रांडिंग हो रही है। बिहार और भागलपुरी सिल्क को पूरी ताकत से अंतरराष्ट्रीय बाजार में पहचान स्थापित करेंगे। 1400 बुनियाद मशीनें बुनकर महिलाओं को वितरित की जा रही है जिससे थाई रीलिंग जैसी कुप्रथा खत्म होगा। बिहार के सिल्क मार्क एक्सपो से प्योर सिल्क को बढ़ावा मिल रहा है और बेहतर बाजार मिल रहा है।

प्रतीकात्मक चित्र

उद्योग मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा 30 अप्रैल को बिहार के पहले एथेनॉल प्लांट का उद्घाटन पूर्णिया विधानसभा क्षेत्र में होगा। पूर्वोत्तर भारत की बायोफ्यूल्स प्राइवेट लिमिटेड की इथेनॉल उत्पादन प्लांट 105 करोड़ की राशि खर्च कर हुआ है जो एक साल के अंदर ही बनकर तैयार हो गया।

उद्योग मंत्री ने कहा कि पूर्णिया के अलावा आरा में एक और गोपालगंज में दो‌ एथेनॉल प्लांट बनकर तैयार है जिसका जल्द ही शुभारंभ किया जाएगा। कई प्लांटों ने मुजफ्फरपुर के मोतीपुर में निर्माण शुरू कर दिया है प्रदेश के अन्य हिस्सों में भी उद्योग को लेकर काफी बढ़िया माहौल है। उद्योग मंत्री ने उन लोगों को दो टूक जवाब दिया कि जो बिहार में उद्योग लगने की बात से इंकार करते हैं, उन्हें पूर्णिया में उद्घाटन किए जा रहे एथेनॉल प्लांट पर गौर करना चाहिए।