Connect with us

BIHAR

बिहार के इस जिले के 300 एकड़ जमीन में बियाडा की जमीन पर स्थापित होंगे उद्योग-धंधे, कवायद शुरू, जिले के DM भी है तैयार

Published

on

चंपारण में चनपटिया स्टार्टअप की कामयाबी के बाद उद्योग धंधे स्थापित करने की सोच रहे 140 लोगों के लिए जिला प्रशासन जमीन उपलब्ध कराने हेतु कुमारबाग के बियाडा की जमीन को चिन्हित किया है। इस पर जिला प्रशासन द्वारा पहल भी शुरू हो गई है। राज्य सरकार के उद्योग मंत्री और शीर्ष अफसरों के बीच बातचीत का दौर जारी है।

बियाडा की लगभग 450 एकड़ जमीन कुमारबाग में थी, खाली पड़ी 300 एकड़ जमीन में उद्योग धंधे स्थापित किए जाएंगे। नया स्थल पर एपेरल उद्योग और टेक्सटाइल के साथ ही लेजर आधारित ज्वेलरी निर्माण से संबंधित उद्योग लगाए जाएंगे।

स्टार्टअप जोन में पहले से उपलब्ध लगभग 20 एकड़ जमीन में उद्यमियों की ओर से उद्योग धंधा स्थापित करने का उद्योग लगाने को लेकर इंतजार कर रहे लोगों को लाभ दिलाने के लिए जिला प्रशासन ने यह पहल की है। अभी तक 57 उद्यमियों द्वारा चनपटिया स्टार्टअप जोन में उद्यम स्थापित किया गया है। यहां अत्याधुनिक तकनीक के 400 से ज्यादा उपकरण लगाई गई हैं। यहां उत्पादित 15 करोड़ से अधिक के सामान स्थानीय बाजार सहित दूसरे जिलों, राज्यों तथा विदेश में बेची जा चुकी है।

बता दें कि यहां स्वेटर, कश्मीरी शाल, बनारसी साड़ी समेत 25 से ज्यादा तरह के टेक्सटाइल एंड एपरिल बनाया जा रहा है। इसके अलावा फुटवेयर, स्टील के बर्तन, सेनेटरी पैड का भी निर्माण हो रहा है। कुछ दिनों पहले ही ई-रिक्शा की भी असेंबलिग शुरू कर दी गई है।‌ उद्योग स्थापित करने हेतु बियाडा की जमीन लेने के बाद इसे डेवलप भी किया जाएगा। यहां आधारभूत संरचनाओं का विकास किया जाएगा ताकि उद्योग स्थापित करने में कोई दिक्कत नहीं हो। उद्यम स्थापित करने वाले उद्यमियों से सरकारी मापदंड के अनुसार किराया वसूली भी की जाएगी।

जिले के डीएम कुंदन कुमार के मुताबिक बाहर से आए लोग जो यहां उधम स्थापित करना चाहते हैं, उनको नियमावली सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी। प्रस्तावित जमीन पर उद्यमी रेडीमेड गार्मेट्स जिन्स, ज्वेलरी, निर्माण का प्लांट लगाएंगे। आगरा में लेजर टेक्नोलॉजी से निर्माण कर रहे सितेश कुमार के मुताबिक यहां ज्वेलरी आदि का निर्माण किया जाएगा। राजधानी दिल्ली से आई प्रियंका बताती है कि यहां जिन्स पैंट बनाने के लिए प्लांट लगाने की तैयारी में है।