Connect with us

BIHAR

बिहार में बिजली संकट की समस्या होगी दूर, ट्रांसफार्मरों का लोड होगा कम, बन रहा है नया पावर हाउस

Published

on

गर्मी के दिनों में बढ़ रही बिजली समस्या से खराब हो रहे ट्रांसफार्मरों का दबाव कम किया जा रहा है।‌ ऐसे ट्रांसफार्मरों का लोड कम कर लोगों को राहत दिया जाएगा इसके लिए नए सब स्टेशन का निर्माण हो रहा है। पटना जिले में नौबतपुर के बाद अब जक्कनपुर में 400 KVA का सब स्टेशन का निर्माण किया जा रहा है। यह इसी साल के जून तक चालू हो जाएगा, इससे लोगों को काफी राहत मिलेगी। ऐसे ही अन्य क्षेत्रों में भी बिजली का दबाव डिवाइड करने की तैयारी में है।

गर्मी के दस्तक देते ही बिजली का संकट हो जाता है। घरों में बिजली के लोड अचानक बढ़ जाती है, जिसका डायरेक्टर सर ट्रांसफार्मर और केबिलों पर पड़ता है। बिजली विभाग गर्मी में बिजली संकट को दूर करने के लिए नई योजना बना रहा है। विभाग ट्रांसफार्मरों का दबाव कम करने से लेकर नए स्टेशन बनाने की योजना में जुटा हुआ है। इसी कड़ी में 400 केव जी आई एस उपकेन्द्र जक्कनपुर में तैयार किया गया है। पटना जिला के लिए यह बड़ी बात है।

बता दें कि मीठापुर और जक्कनपुर के आसपास के क्षेत्रों में बिजली संकट की समस्या से लोगों को राहत मिलेगी। बिजली विभाग इसे नया युग की शुरुआत बता रहा है, चुकी 400 केवी का जीआईएस उपकेन्द्र बड़ी बात है। बिहार स्टेट पावर कंपनी लिमिटेड और पावर ग्रिड कंपनी लिमिटेड दोनों ने मिलकर बिहार ग्रिड कंपनी लिमिटेड द्वारा बन रहे नौबतपुर के बाद दूसरा ग्रिड उपकेन्द्र है। आने वाले दिनों में लोगों को बड़ी राहत मिलने की उम्मीद है।

राज्य सरकार के ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव कहते हैं कि पटना इलाके में स्थित 400/220/132 /33 के वी ग्रिड उपकेन्द्र जक्कनपुर के पूरी तरह से ऊर्जान्वित होने के बाद प्रदेश में खासतौर पर पटना एवं इसके आस पास के इलाकों में बिजली संकट की समस्या दूर होगी। बिना किसी रोकथाम के बिजली मिलेगी। बता दें कि औरंगाबाद जिले के नवीनगर में स्थित टाप विद्युत प्रतिष्ठान से 400 के वी जक्कनपुर ग्रिड उपकेन्द्र को 400 के वी पर बनाया गया है।

इस ग्रिड से 132 / 33 के वी जक्कनपुर, 220 / 132 / 33 के वी गौरीचक और मीठापुर ग्रिड उपकेन्दों को बिजली आपूर्ति की जाएगी। इस ग्रिड उपकेन्द्र की 400 के वी स्तर पर कुल क्षमता 1000 एम वी ए, 480 एम वी ए 220 के वी स्तर पर और 320 एम वी ए 132 के वी स्तर पर है। 400 के वी ग्रिड उपकेन्द्र, जक्कनपुर व इससे जुड़ी लाइन वाले क्षेत्रों को काफी राहत मिलेगी। इसे बनाने में तकरीबन 475 करोड़ रुपए की लागत आ रही है।

उर्जा विभाग के प्रधान सचिव सह अध्यक्ष बिहार ग्रिड कंपनी लिमिटेड के संजीव हंस बताते हैं कि प्रदेश के विद्युत वितरण के सेक्टर में 400 केवी लेवल पर जक्कनपुर सहित नौबतपुर और बाढ़ के बख्तियारपुर में कुल तीन जी आई एस ग्रिड उपकेन्द्रों को बनाने का काम जारी है। निर्धारित समय में से पूरा करने को लेकर निरंतर कोशिश जारी है। बिहार ग्रिड कंपनी लिमिटेड के प्रबंध निदेशक एम के सिंह ने जानकारी दी कि जून 2022 तक पूर्ण रूप से 400 के वी जक्कनपुर जी आई एस ग्रिड उपकेन्द्र काम करने लगेगा।