Connect with us

BIHAR

दरभंगा एयरपोर्ट के निर्माण के लिए जून तक पूरा होगा भूमि अधिग्रहण, नए एन्क्लेव निर्माण के बाद उतर सकेंगे भारी विमान

Published

on

उम्मीद जताई जा रही है कि इस वर्ष के जून तक दरभंगा एयरपोर्ट को नए सिविल एन्क्लेव और रनवे विस्तार व सहायक बुनियादी ढांचे और भवनों के लिए 78 एकड़ भूमि मिल जाएगी। जल्द ही जिला प्रशासन जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया आरंभ करेगा क्योंकि पहले ही सक्षम प्राधिकारी द्वारा सामाजिक प्रभाव मूल्यांकन सर्वेक्षण को स्वीकृति दे दी गई है। नए सिविल एन्क्लेव को 54 एकड़ जमीन में बनाया जाएगा। जिसमें कार्गो, टर्मिनल बिल्डिंग, फायर स्टेशन, मल्टी लेवल कार पार्किंग और अन्य आधारभूत संरचना शामिल होंगे।

वहीं 24 एकड़ जमीन का उपयोग वर्ग 1 या कैट 1 इंस्ट्रूमेंट लैंडिंग सिस्टम एवं रनवे विस्तार के विस्तार के लिए किया जाएगा।‌ इसमें बड़े विमानों के परिचालन और अंतरराष्ट्रीय संपर्क की गुंजाइश का ख्याल रखा जाएगा दरभंगा के हवाई पट्टी की टोटल लंबाई 9000 फिट है।

प्रतीकात्मक चित्र

बिहार कैबिनेट सचिवालय विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजय कुमार कहते हैं कि इस साल जून तक बिहार सरकार एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया को च की गई जमीन हस्तांतरण करने की स्थिति में होगी। रनवे के दक्षिणी हिस्से में टीम ने भूमि चिह्नित कर ली है। बता दें कि पहले ही भूमि अधिग्रहण के लिए सरकार ने 336 करोड़ रुपए की स्वीकृति दे दी है।

दरभंगा के एडीएम विभूति रंजन चौधरी ने बताया कि जमीन मूल्यांकन हेतु छह सदस्यीय कमेटी बनाई गई है। इसमें जमीन के प्रकार, प्रकृतिकुल भूखंड और भूमिधारक शामिल हैं। वासुदेवपुर, बेलाडुला और बेला नवादा तीन गांवों में 78 एकड़ जमीन फैली हुई है। चयनित जमीन का एक बड़ा हिस्सा बासुदेवपुर में है, जहां सिविल एन्क्लेव का निर्माण होगा।

उन्होंने कहा कि जमींदारों की अनुमति लेंगे और आवंटन के बाद राशि बांटेगे। योजना के मुताबिक, एएआई दरभंगा एयरपोर्ट के लिए पहले माले पर एक प्रस्थान लाउंज जबकि भूतल पर एक आगमन क्षेत्र के साथ दो मंजिला टर्मिनल भवन बनाया जाएगा। एएआई परियोजना प्रभारी जीके चंदना ने बताया कि दरभंगा एयरपोर्ट पर सिविल एन्क्लेव बनाने के लिए चर्चा जारी है।