Connect with us

BIHAR

पटना में बेउर जेल से हसनपुर, जयप्रकाश नगर होते पुनपुन बांध तक 14 किमी लंबे सड़क का होगा निर्माण

Published

on

बिहार की राजधानी में पटना में चौमुखी विस्तार को लेकर सड़कों की मजबूत स्थिति हेतु लगातार काम जारी है। पटना के अवतार यानी बेउर जेल से नेशनल हाईवे-30 के नजदीक हसनपुर गांव और जयप्रकाश नगर फिर यहां से पुनपुन बांध तक सड़क निर्माण किया जाएगा। दो चरण में निर्माण होने वाली इस सड़क की दयनीय स्थिति बीते 15 साल से थी। इस इलाके में अंदर तक शहर का विस्तार हो रहा है। लेकिन सड़क की जर्जर हालात से लोगों को बरसात के दिनों में काफी परेशान होना पड़ता है।

बेउर मोड़ से जयप्रकाश नगर और हसनपुर तक 3.4 किमी लंबी सड़क का निर्माण होगा। इसमें बेउर मोड़ से जेल के नजदीक तक के पास 600 मीटर हिस्से को फोरलेन के रुप में बनाया जा रहा है, ताकि यातायात दबाव को व्यवस्थित किया जा सके। अन्य दोनों हिस्सों में सड़क 18 फीट चौड़ी होगी। दूसरे चरण में 10 किलोमीटर लंबी जयप्रकाश नगर से पुनपुन बांध तक सड़क का निर्माण होगा। दोनों भाग की सड़क के बन जाने से इस इलाके की लगभग तीन लाख आबादी को डायरेक्ट आवागमन में सहूलियत होगी। अधिकारियों की मानें, तो सड़क को पूरा करने के लिए ज्यादा से ज्यादा एक साल का समय निर्धारित किया गया है।

बेउर मोड़ से जयप्रकाश नगर और हसनपुर तक जाने वाली सड़क की स्थिति जर्जर है, इसके बावजूद भी नगर निगम द्वारा इसे बनाने के लिए कोई पहल नहीं किया गया। इसी तरह पुनपुन बांध बाग जय प्रकाश नगर से जाने वाली 10 किलोमीटर लंबी सड़क की स्थिति और भी खराब है। सड़क पार बहुत गड्ढे हैं और बारिश के दिनों में तो गुजारना काफी परेशानियों से भरा होता है। अब इस सड़क के निर्माण का काम पथ निर्माण विभाग करेगी।

राजधानी की सड़कों को बाईपास से पटना के सभी हिस्सों से जोड़ने के लिए विभाग ने इन सड़कों के निर्माण पर मंजूरी दी है। पुनपुन बांध पार्क बनने वाली सड़क को लेकर टेंडर फाइनल हो गया है और निर्माण एजेंसी का भी चयन कर लिया गया है। कुछ दिनों में सड़क बनाने का काम शुरू हो जाएगा। दूसरी ओर, जयप्रकाश नगर तक बेउर मोड़ से जाने वाली सड़क का काम प्रारंभ हो गया है।

बता दें कि पहले चरण में लगभग 9.50 करोड़ की राशि खर्च होगी। इसका जिम्मा सनी कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड को सौंपा गया है। दूसरे चरण में 10 किलोमीटर बनने वाले सड़क में लगभग 28 करोड़ की लागत आएगी। इसके निर्माण की जिम्मेदारी अम्हारा कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड को दी गई है। दोनों चरण को पूरा करने में तकरीबन 38 करोड़ रुपए खर्च होंगे।

इन दोनों सड़कों के निर्माण हो जाने से बढ़िया वादी को इसका लाभ मिलेगा। पहले चरण की सड़क बनने से कॉलोनी, बेउर गांव, महावीर कॉलाेनी, गंगा विहार हसनपुर गांव को लाभ मिलेगा। दूसरे चरण के सड़क निर्माण पूर्ण हो जाने से चिलबीली, अल्लीपुर, बह्मपुर, कुरकुरी, पुनपुन और गंजपर के इलाकों के लोगों को काफी सहूलियत होगा।

आरसीडी के कार्यपालन अभियंता शशिभूषण सहाय कहते हैं कि पटना के आउटर में भी तीव्र गति से शहर का विस्तार हो रहा है। ऐसे में दो चरण के सड़कों की जिम्मेदारी आरसीडी को सौंपी गई है। दोनों चरण के कंप्लीट हो जाने से बड़ी आबादी को बेहतर आवागमन के लिए सहूलियत मिलेगा।