Connect with us

BIHAR

बिहार में 11 वर्षों से बन रहे बख्तियारपुर-ताजपुर पुल का निर्माण कार्य फिर से शुरू, जानें कब तक पूरा होगा निर्माण

Published

on

बिहार में सड़कों की स्थिति बेहतर करने और लंबित पुरानी परियोजना को पूर्ण करने में बिहार सरकार का पूरा ध्यान है। अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि 11 वर्षों से बन रहे पटना के बख्तियारपुर के करजान से समस्तीपुर के ताजपुर के बीच आगामी दो साल के अंदर पुल का निर्माण पूरा कर लिया जाएगा। बता दें कि 52 प्रतिशत पुल का काम पूरा हो चुका है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को स्थलीय निरीक्षण कर इसे शुरू करने को कहा। इस दौरान पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन भी थे।

बता दें कि यह बिहार का पहला प्रोजेक्ट है, जिसे पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप मोड में बनाया जा रहा है। इसके निर्माण हेतु 2785 करोड़ प्रशासनिक मंजूरी मिली थी। 935 करोड़ रुपए बिहार सरकार को वहन करना है। इस पुल की कुल लंबाई 5.517 किमी होगी जिसके लिए 51.127 किमी लंबे एप्रोच पथ का निर्माण किया जाएगा। आपको बता दें कि इस पुल के निर्माण के बाद इस पुल से गुजरने वाले लोगों को लगभग 22 वर्षों तक टोल टैक्स देना होगा।

इस पुल के बन जाने के बाद बिहार के उत्तर और दक्षिणी हिस्से के लोगों के लिए काफी फायदा होगा। उन लोगों को पटना आने की जरूरत नहीं पड़ेगी जो नालंदा, बाढ़, भागलपुर, नवादा व झारखंड की ओर से उत्तर बिहार की ओर जाते हैं। इस पुल के माध्यम से वो सीधे निकल जाएंगे‌‌। इसी तरह हम लोगों को पटना जाने की जरूरत नहीं होगी जो समस्तीपुर, रक्सौल, मधुबनी, व नेपाल की ओर से झारखंड की ओर जाते हैं।

स्थलीय निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने परिवहन विभाग के पता है अमृत को कहा कि यह पुल वैशाली से जुड़े, इसके लिए भी संभावना तलाशी जानी चाहिए। सीएम ने अफसरों को साफ तौर पर निर्देश दिया कि मानसून आने से पहले ही मिट्टी जांच की प्रक्रिया पूरी कर लें।