Connect with us

BIHAR

मुजफ्फरपुर को दो एलिवेटेड रोड की सौगात, शहर को जाम से मिलेगी मुक्ति

Published

on

मुजफ्फरपुर के लोगों के लिए अच्छी खबर है। शहर में जाम की समस्या से स्थाई समाधान हेतु दो बड़ी योजनाओं का तोहफा मिलने जा रहा है। शहर के उत्तरी एवं दक्षिणी हिस्से में बिहार राज्य पुल निर्माण निगम ने एक-एक टू-लेन एलीवेटेड सड़क निर्माण का प्रस्ताव रिपोर्ट तैयार किया है। शहर के सिकंदरपुर चौक से सरैयागंज टावर के रास्ते आदर्शनगर थाना के नजदीक मोतीझील ओवरब्रिज तक निर्माण होगा।

154.14 करोड़ रुपए की राशि खर्च कर 910 मीटर लंबी एलिवेटेड सड़क का निर्माण होगा। दूसरा एलिवेटेड रोड 105.04 करोड़ रुपए की राशि खर्च कर जेनिथ पेट्रोल पंप से अघोरिया बाजार होते हुए सिटीकार्ट तक बनेगी। यह एलिवेटेड रोड 600 मीटर लंबी होगी।

बिहार राज्य पुल निर्माण निगम के वरीय परियोजना इंजीनियर की रिपोर्ट के मुताबिक सरैयागंज टावर क्षेत्र कारोबारियों का हब है। यहां से चारों और सड़कें गुजरती हैं। इस इलाके से शहर के दक्षिणी और जाम के वजह से काफी वक्त लगता है। इसे मोतीझील ओवरब्रिज से जोडऩे के बाद कम समय में लोग शहर से बाहर निकल जाएंगे। वहीं शहर के एक छोर से दूसरे छोर तक जाने में भी सुविधा होगी।

शहर के दक्षिणी हिस्से में जेनिथ से आमगोला तक निर्माण होने वाले एलीवेटेड रोड को लेकर कहते हैं कि हमेशा अघोरिया बाजार क्षेत्र में जाम की समस्या बनी रहती है। यहां भी चारों और हैवी ट्रैफिक वाले रोड हैं। इस सड़क के बन जाने से मिठनपुरा और कलमबाग चौक की तरफ जाने वाली गाड़ियों को जाम से मुक्ति मिल जाएगी। वहीं, शहर के जूरन छपरा एवं कंपनीबाग इलाके के गाड़ियों के लिए इमलीचट्टी में स्टैंड बनाने की तैयारी जोरों पर है। यह एंबुलेंस लगने से जूरन छपरा क्षेत्र का जाम काफी हद तक कम हो जाएगा।

आरसीडी-वन के कार्यपालक अभियंता अंजनी कुमार कहते हैं कि शहर की जनसंख्या बहुत बढ़ गई है। इस लिहाज से गाड़ियों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। अब हमें ऊपर की तरफ अधिक सड़कें बनाने होंगे। इस क्रम में अभी दो एलिवेटेड रोड का प्रस्ताव बन चुका है। इसके बाद दो और परियोजना को तैयार किया जाएगा। इसके बन जाने के बाद जाम की समस्या बहुत कम हो जाएगी।