Connect with us

BIHAR

बिहार में घर बनवाना हुआ सपने जैसा, दोगुना तक बढ़ी निर्माण सामग्री की कीमतें, जानें निर्माण सामग्री की दर

Published

on

महंगाई के युग में अब घर बनाना भी लोगों के लिए चांद फतह करने जैसा हो गया है। महंगाई का आलम इस कदर है कि पिछले एक सप्ताह में ब्रांडेड कंपनियों ने सीमेंट की बोरी पर 25 से 30 रुपए तक की वृद्धि की है। एक बोरी सीमेंट की कीमत के लिए लोगों के लिए 365-375 रुपए देना पड़ रहा है।

रॉ मटेरियल की कीमतों में तकरीबन 40 प्रतिशत तक वृद्धि होने की वजह से बिल्डिंग मटेरियल की कीमतें लगातार उछाल मार रही है। मौजूदा समय में इन सामग्रियों के कीमत का आकलन किया जाए, तो गत 4 महीने के तुलना में अब मकान बनाना लगभग 50 प्रतिशत तक महंगा हो गया है।

संकेतिक चित्र

बिल्डर एसोसिएशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष राकेश रंजन बताते हैं कि सीमेंट के दामों में भी इजाफा हुआ है। बाजार में तकरीबन एक दर्जन सीमेंट कंपनियों के सीमेंट मौजूद हैं। फरवरी महीने में प्रत्येक कंपनियों ने एक बोरी पर 50 से 70 रुपए बढ़ाए थे। फरवरी महीने में 275 रुपए में एक मिलने वाली एक बोरी सीमेंट की कीमत आज 340 रुपए हो गई है। अब कंपनियों ने फिर से 25 से 30 रुपए प्रति बोरा बढ़ाया है। बता दें कि एक माह में अकेले पटना जिले में तकरीबन दो लाख टन सीमेंट की खपत होती है। ट्रेन के माध्यम से आने वाली एक रैंक में 40 से 60 हजार सीमेंट की बोरियां होती हैं।

वहीं, सरिया की कीमतें भी 50 से 52 रुपए प्रति किलो से बढ़कर 80-85 रुपए किलो तक पहुंच गई है। बाजार में ब्रांडेड सरिया खरीदने के लिए प्रति टन एक लाख रुपए कीमत है। दीना आयरन कंपनी के प्रमुख संजय भरतिया बताते हैं कि सरिया की कीमत तो दो महीने में 50 प्रतिशत से ज्यादा का बढ़ोतरी रिकॉर्ड किया गया है।‌ 50 रुपए प्रति किलो बिकने वाला छोटी कंपनियों के सरिया की आज की तारीख में कीमत 85 रुपए प्रति किलो के आसपास है। गत एक सप्ताह में इसकी कीमत में 5 रुपए का बढ़ोतरी हुआ है।