Connect with us

BIHAR

मधुबनी में बनेगा बिहार का सबसे बड़ा इथेनॉल प्लांट, 1700 एकड़ में बनेगा यह एथनॉल प्लांट

Published

on

बिहार सरकार के उद्योग मंत्री सैयद शहनवाज हुसैन ने सोमवार को एसके चौधरी शिक्षा न्यास द्वारा आयोजित कृषि विज्ञान केन्द्र, चानपुरा बसैठ में चल रहे तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य महोत्सव सह मेगा एग्री एक्स्पो के तीसरे दिन कार्यक्रम का शुभारंभ किया। शाहनवाज हुसैन ने कहा कि जल्द ही मधुबनी के लोहट में बिहार का सबसे बड़ा एथेनॉल प्लांट लगेगा, इसके लिए भूमि उपलब्ध हो गई है।

कार्यक्रम के दौरान उद्योग मंत्री ने कहा कि भारत के मुस्लिमों के लिए भारत जैसा मुल्क, नरेंद्र मोदी जैसा प्रधानमंत्री और हिंदू जैसा मित्र कहीं नहीं मिलेगा। आज भारत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा पूरे विश्व में हो रही है। उन्होंने कहा कि अब तक गोपालगंज, परवता, पुर्णिया, आरा सहित चार इथेनॉल प्लांट बने हैं। विकास बहुत धूप से मिथिला को जोड़ने के लिए बड़े स्तर पर कार्य योजना के तहत काम किए जा रहे हैं। दरभंगा के अशोक पेपर मिल और पंडोल में सूत मिल के मसले को निपटाने में भीरे हुए हैं।

मंत्री हुसैन ने कहा कि 1600 करोड़ का उद्योग विभाग का बजट है। 19 लाख लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने का जिम्मा है। सीएम नीतीश कुमार के अगुवाई में 2025 तक काम करना है। बिहार मिथिलांचल में उद्योग और विकास का बोलबाला होगा। मेगा टेक्सटाइल के निर्माण हेतु 1700 हेक्टेयर भूमि की जरूरत है, जिसकी खोज जारी है। उद्योग मंत्री ने एसके चौधरी शिक्षान्यास के चेयरमैन डा. संत कुमार चौधरी के कामों की तारीफ की।

कार्यक्रम के दौरान मधुबनी से बीजेपी के सांसद डा. अशोक कुमार यादव ने कहा कि भारत कृषि प्रधान देश है। बिहार का मिथिला इलाका खेती पर आश्रित है। यहां की मुख्य समस्या बाढ़, सुखाड़ व पलायन है। कृषि को उद्योग के सामान बनाने की आवश्यकता है। कृषि के क्षेत्र में किसानों की आमदनी दोगुना करने एवं किसानों के प्रगति और वित्तीय मजबूती के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गंभीर है।

मधुबनी से राजद के विधायक समीर कुमार महासेठ ने कार्यक्रम के दौरान अपनी बातें रखते हुए कहा कि उद्योग का दर्जा मधुबनी में होना जरूरी है। विधान पार्षद घनश्याम ठाकुर ने कहा कि किसानों के सच्चे हितैषी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं। किसानों की आमदनी दोगुणा करने एवं किसानों की खुशहाली के लिए वे काम कर रहे हैं। इस कार्यक्रम के मौके पर वरिष्ठ लोगों ने अपना विचार साझा किया।