Connect with us

BIHAR

बिहार में 12 सड़क और बाईपास निर्माण के लिए 872 करोड़ की राशि स्वीकृत, देखें बनने वाले सड़कों की सूची

Published

on

बिहार सरकार इन दिनों सड़कों की बेहतर कनेक्टिविटी के मकसद से लगातार नई सड़कें और बाईपास बना रही हैं। केंद्र सरकार ने बिहार के कई शहरों में नई रोड और बाईपास निर्माण हेतु करोड़ों रुपए की राशि को स्वीकृति प्रदान की है।

केंद्र की मोदी सरकार ने बिहार में सीआरएफ योजना के अंतर्गत लगभग 120.79 किमी लंबाई में 12 सड़कों के निर्माण हेतु 872,52 करोड़ रुपये की स्वीकृति दी है। बता दें कि इस प्रोजेक्ट के तहत करीब 494.16 करोड़ रुपये से मुख्य जिला सड़कों का लगभग 82.69 किमी लंबाई में वहीं, करीब 378.84 करोड़ रुपए की राशि खर्च कर 38.1 किमी लंबाई में बाईपास का निर्माण होना है।

केंद्र सरकार की योजना के तहत बिहार के जिन 12 सड़कों और बाईपास निर्माण के लिए मंजूरी मिली है, उसमें छितनावां (एनएच-30)- उसरी (दानापुर-शिवाला पथ निर्माण विभाग रोड), परसा बाइपास रोड, मीठापुर खगौल मेन रोड-बीडी कॉलेज रोड-गौरिया मठ-मीठापुर बी एरिया रोड-मीठापुर एनएच-30 रोड और लिंक रोड, इटरही-धनसोई रोड, गरखा बाइपास रोड, अमनौर बाइपास, आरसीसी ब्रिज अखाड़ा घाट के नजदीक, गया शहर में एनएच-83 का बायां हिस्सा, मैरवा-धरौली रोड, रिविलगंज से विशुनपुरा बाइपास, निधि चौक से रेलवे स्‍टेशन महावीर मंदिर चौक, अमनौर बाइपास व जहानाबाद बाइपास के अंत से शुरू होने से एनएच-83 का शेष हिस्सा शामिल हैं।

केंद्र सरकार की ओर से सड़क योजनाओं को स्वीकृति मिलने पर बिहार सरकार के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार प्रकट किया है। मंत्री ने कहा कि लगातार समय-समय पर सड़क निर्माण की समीक्षा हो रही है और आवागमन में गुणात्मक सुधार हेतु उनका विभाग निरंतर प्रयास कर रहा है।

अफसरों को निर्देश देते हुए मंत्री नितिन नवीन ने कहा कि सीआरएफ योजना में सड़कों का निर्माण एनएच के मानक के अनुसार करें। निर्माण में क्रस्ट थिकनेस, पेवमेंट की चौड़ाई का खास ख्याल रखें। केंद्र सरकार से मिली राशि का पूरा इस्तेमाल करते हुए समय रहते ही सड़कों का निर्माण हो जाना चाहिए।

Trending