Connect with us

BIHAR

पटना एयरपोर्ट बिहार का पहला एयरपोर्ट जहाँ शुरू हुई एंबुलिफ्ट की सेवा।

Published

on

पटना एयरपोर्ट पर एंबुलिफ्ट सेवा बहाल कर दी गई है। अब हवाई यात्रा करने वाले पैसेंजर्स बिना किसी जद्दोजहद के विमान में सवार हो सकते हैं। एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया की इस सेवा से विशेष रूप से दिव्यांग, मरीज व बुजुर्ग यात्रियों को काफी सुलभता होगी। हालांकि, इस सुविधा के लिए भुगतान राशि के तौर पर यात्रियों को एक सौ रुपए चुकाने होंगे।

बता दें कि वर्तमान में पटना एयरपोर्ट पर कोई एयरोब्रिज नहीं है। इसके वजह से बीमार और बुजुर्ग यात्रियों को विमान में चढ़ने और उतरने के दौरान खासा दिक्कत का सामना करना पड़ता है। गंभीर यात्रियों को स्ट्रेचर, व्हील चेयर या रैंप के मदद से विमान में उतारा व चढ़ाया जाता रहा है।

सांकेतिक चित्र

ऐसे में मरीजों के फिसलने, गिरने व झटका लगने का डर बना रहता है। इसी को देखते हुए हवाई अड्डा पर एंबुलिफ्ट सेवा शुरू करने का निर्णय लिया गया था। यात्रियों को एंबुलिफ्ट की मदद से विमान की ऊंचाई तक बिना किसी जद्दोजहद के पहुंचाया जा सकेगा। शुक्रवार से हवाई यात्रियों के लिए यह सेवा शुरू कर दी गई है।

एयरपोर्ट निदेशक बीएचसी नेगी बताते हैं कि मरीजों को जिस तरह एंबुलेंस एक जगह से दूसरी जगह ले जाती है। उसी तरह एंबुलिफ्ट के जरिए दिव्यांग और अक्षम यात्रियों को एयरपोर्ट पर विमान में चढ़ाया और उतारा जाएगा। पटना एयरपोर्ट पर आने वाले यात्रियों को काफी सुलभता प्रदान होगी। एम्बुलिफ्ट की खरीददारी आयशर कंपनी से की गई इसके लिए 74 लाख रुपए खर्च हुए हैं। इसे जमीन से तकरीबन छह मीटर की ऊंचाई तक ले जाया जा सकता है और यह 3000 किलोग्राम का लोड सह सकता है। इसे बेहद खूबसूरती से डिजाइन किया गया है।

Trending